एसपी साहब से मुझे खतरा है और हो गई मौत, अब ऑडियो आया

एसपी साहब से मुझे खतरा है और हो गई मौत, अब ऑडियो आया

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के महोबा के एसपी मणिलाल पाटीदार द्वारा घूस मांगे जाने के बाद गोली लगने से घायल हुए व्यापारी इंद्रजीत की देर रात कानपुर के रीजेंसी अस्पताल में मौत हो गई।

इंद्रकांत ने पुलिस अधिकारी मणिलाल पाटीदार (जो अभी निलंबित हैं) पर रंगदारी मांगने के आरोप लगाए थे। जिसके बाद यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एसपी रहे मणिलाल पाटीदार सहित कई थानेदारों को सस्पेंड कर दिया था।


इसके साथ ही एसपी रहे मणिपाल पाटीदार समेत कई थानेदारों पर मुकदमा भी दर्ज किया गया था कानपुर में मृतक के परिवार ने कहा कि एसपी मणिपाल पाटीदार घूस मांगता था और इन्होंने ही हत्या करवाई है।

इस गोलीकांड से पहले के कुछ धमकी भरे ऑडियो भी वायरल हो रहे हैं। एक ऑडियो क्लिप में एक शख्स जो अपना नाम आशू भदौरिया बता रहा है कथित तौर पर इंद्रकांत के साले से इंद्रकांत के बारे में पूछ रहा है और धमकी दे रहा है।

इसी मामले में पिछले दिनों एक वीडियो सामने आया था, जिसमें इंद्रकांत को यह कहते सुना जा सकता है, ”अगर मेरी हत्या होती है तो इसके पीछे पुलिस अधीक्षक महोबा मणिलाल पाटीदार और सुरेश सोनी होंगे क्योंकि ये दोनों पिछले एक साल से मेरे पीछे पड़े हुए हैं।”


वीडियो सामने आने के बाद मंगलवार को क्रशर व्यवसायी इंद्रकांत त्रिपाठी (44) संदिग्ध परिस्थिति में गोली लगने से घायल, अपनी कार में मिले थे। यह गोली उनके गले में लगी थी

पीलीभीत में एसपी ने की डीएम ने भाजपा नेता का शस्त्र लाइसेंस रद्द करने की सिफारिश


जारी ऑडियो क्लिप में ‘राजा साहब’ के नाराज होने पर अंजाम भुगतने की धमकी की बात सुनी जा सकती है। हालांकि अभी यह भी साफ नहीं हुआ है कि ‘राजा साहब’ के तौर पर किसका जिक्र किया गया था।

इंद्रकांत को गोली लगने के मामले में उनके बड़े भाई रविकांत त्रिपाठी की तहरीर पर शुक्रवार की शाम कबरई थाने में निलंबित पुलिस अधीक्षक मणिलाल पाटीदार, कबरई थाने के निलंबित थानाध्यक्ष देवेंद्र शुक्ला और पत्थर खनन के विस्फोटक सामग्री व्यवसायी ब्रम्हदत्त और सुरेश सोनी के खिलाफ जबरन धन वसूली (386), हत्या की कोशिश (307), साजिश रचना (120बी) और भ्रष्टाचार निवारण एक्ट 1988 की धारा-7/8 का मुकदमा दर्ज हुआ था।

रविकांत ने आरोप लगाया था कि पाटीदार ने उनके भाई से 6 लाख रुपये रिश्वत मांगी थी और न देने पर उसे झूठे मुकदमे में फंसाने की धमकी दी थी।

वहीं इस मामले में डीजीपी ने एक एसआईटी गठित करने का आदेश दिया है। एसआईटी का नेतृत्व आईजी वीएनएस रेंज श्री विजय सिंह मीणा और श्री शलभ माथुर डीआईजी करेंगे। श्री अशोक कुमार त्रिपाठी एसपी सदस्य होंगे। वे 7 दिनों में रिपोर्ट देंगे।

दोस्तों देश दुनिया की ताजातरीन सच्ची और अच्छी खबरों को जानने के लिए बनें रहें www.dastaktimes.org के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए https://www.facebook.com/dastak.times.9 और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @TimesDastak पर क्लिक करें।

साथ ही देश और प्रदेश की बड़ी और चुनिंदा खबरों के ‘न्यूज़-वीडियो’ आप देख सकते हैं हमारे youtube चैनल https://www.youtube.com/c/DastakTimes/videos पर। तो फिर बने रहिये www.dastaktimes.org के साथ और खुद को रखिये लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड।