BJP सांसद भोला सिंह पर बड़ा एक्शन, किसी भी बूथ में जाने पर लगी रोक

उत्तर प्रदेश में हो रहे दूसरे चरण के मतदान में लगातार कई विवाद हो रहे हैं. बुलंदशहर से भारतीय जनता पार्टी के सांसद भोला सिंह को यहां एक पोलिंग बूथ पर जाने से रोक दिया गया. भोला सिंह जब बूथ पर पहुंचे तो ईवीएम के पास जाने लगे, लेकिन बाहर खड़े सुरक्षाकर्मी ने उन्हें अंदर जाने से रोक दिया और दोनों के बीच नोक झोंक हो गई. इसके बाद डीएम ने सांसद पर बड़ी कार्रवाई की है. भोला सिंह के किसी भी पोलिंग बूथ पर जाने से रोक लगा दी गई है.

पोलिंग बूथ पर सुरक्षाकर्मी से भिड़े थे

सुरक्षाकर्मी ने जब भोला सिंह को रोका तो वह भड़क गए और उन्होंने सीधा डीएम को फोन लगा दिया. जिसके बाद डीएम ने सुरक्षाकर्मी से बात की और तब भोला सिंह को कमरे के अंदर जाने की इजाजत दी थी. फोन पर सुरक्षाकर्मी ने डीएम से साफ कहा कि भोला सिंह, अंदर कमरे में ईवीएम के पास जाने की बात कर रहे हैं. जब डीएम ने भोला सिंह को अंदर कमरे में जाने की परमिशन दी, तब सुरक्षाकर्मी ने उन्हें अंदर जाने दिया.

आपको बता दें कि चुनाव आयोग के नियमों के मुताबिक, एक प्रत्याशी पोलिंग बूथ पर जांच करने के लिए जा सकता है कि क्या मतदान सही तरीके से हो रहा है या नहीं, लेकिन वह ईवीएम मशीन के पास नहीं जा सकता है. पोलिंग बूथ में बैठे अधिकारियों से मुलाकात करना ही प्रत्याशी के अधिकारों में है. बता दें कि बुलंदशहर पर इस बार सभी की नज़र है, यहां पिछले साल हुई हिंसा के कारण सुरक्षाकर्मियों की संख्या में बढ़ोतरी की गई है.

आजतक से बात करते हुए भोला सिंह ने कहा कि मैं अपनी सांसद निधि से साढ़े 22 करोड़ रुपये का विकास कार्य अपने क्षेत्र में करवाया है, लेकिन अगर वोटर उन्हें नहीं देख पा रहे हैं तो वह इसमें कुछ नहीं कर सकते हैं. पिछले साल हुई हिंसा के बारे में उन्होंने कहा कि पिछले साल जो भी हुआ वह एक दुर्घटना थी, इससे चुनाव को प्रभावित नहीं करना चाहिए. पश्चिमी उत्तर प्रदेश की 8 सीटों पर आज मतदान हो रहा है. आज इससे पहले अमरोहा में भी विवाद हुआ जब फर्जी वोटिंग का आरोप लगाते हुए बीजेपी सांसद कंवर सिंह तंवर ने आरोप लगाया. बसपा उम्मीदवार दानिश अली ने भी उनपर पलटवार किया.