कोरोना ने निगम कर्मियों के प्रति लोगों की धारणा बदली: संयुक्ता भाटिया

महापौर ने की नगर निगम अधिकारियों, कर्मचारियों और पार्षदों की प्रशंसा

लखनऊ: लखनऊ की महापौर डॉ सयुक्ता भाटिया ने कोरोना महामारी के दौरान नगर निगम परिवार द्वारा किये गए कार्यों की प्रशंसा करते हुए कहा कि पहले लोगों की धारणा थी कि नगर निगम कर्मचारी कार्य नही करते है, आज वह धारणा पूरी तरह से बदल चुकी है। जिस तरह ने नगर निगम के समस्त अधिकारियों-कर्मचारियों ने दिन रात एक कर लखनऊवासियो को कोरोना से बचाने हेतु कार्य किया है वह प्रसंशनीय है। उपरोक्त बातें महापौर श्रीमती भाटिया ने बुधवार को लखनऊ नगर निगम के त्रिलोकनाथ हॉल में आहूत कार्यकारिणी समिति की विशेष बैठक के दौरान कहीं। महापौर की अध्यक्षता में यह बैठक फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन हुए आहूत की गई थी, जिसमे मास्क एवं सेनेटाइजर का उपयोग भी किया गया।

महापौर ने आगे कहा कि मेरे अपील पर समस्त लखनऊ वासियों ने नगर निगम के कर्मचारियों को अपने द्वार पर सम्मानित कर पुष्प वर्षा की, जिसके लिए हम जनता का अभिवादन करते है। महापौर ने आगे कहा को नगर निगम के पार्षदों ने कई स्थानों पर अपने पास से जनता को राशन एवं अन्य सामग्री उपलब्ध कराने के साथ ही सेनेटाइजेशन एवं अन्य कार्य किये वह भी प्रसंशनीय है, इसके लिए मैं समस्त पार्षदों को बधाई देती हूं। महापौर ने आगे कहा कि लखनऊ के जरूरतमंद लोगों तक प्रतिदिन राशन एवं भोजन पैकेट वितरण करने हेतु खोले गए अन्नदा एकाउंट में लखनऊ वासियो ने दिल खोलकर सहयोग किया । इसके लिए मैं उनको भी धन्यवाद देती हूं।

कार्यकारिणी ने ‘कोरोना सुरक्षा फंड’ बनाने हेतु महापौर को अधिकृत किया

बैठक में कार्यकरिणी समिति ने सर्वसम्मति से लखनऊ वासियो को आगामी कोरोना संकट से बचाने के लिए कोरोना सुरक्षा फंड बनाने हेतु निर्णयों को पास कर महापौर को अधिकृत करते हुए विधिक राय लेकर मद बनाकर अथवा अन्य माध्यम से करने हेतु शासन को संदर्भित करने का निर्णय लिया।