दीपिका ने बताया डिप्रेशन से उबरने का इलाज, खुद भी कर चुकी हैं अपना इलाज

- in मनोरंजन

मुंबई: कोरोना वायरस की वजह से भारत भर में लागू हुए लॉकडाउन के बाद घरों में बैठे लोगों के साथ तनाव और अवसाद की समस्याएं आम हो गई हैं। हिंदी सिनेमा की नंबर वन अभिनेत्री दीपिका पादुकोण इन घटनाओं से इत्तेफाक रखती हैं और इनके प्रति अपनी जिम्मेदारी भी समझती हैं। उनका मानना है कि ऐसे समय में लोगों को अपनी मानसिक स्थिति को लगातार चेक करते रहना चाहिए। उन्होंने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर 11 स्टेप्स की एक स्वास्थ्य संबंधी सलाह पोस्ट की है जो लोगों के मानसिक स्वास्थ्य को सुधारने में मदद कर सकती है।

11 स्टेप्स में दीपिका ने बताया है कि लोगों को खुद की देखभाल करनी चाहिए और खुद से प्यार भी करना चाहिए। मानसिक स्वास्थ्य को दुरुस्त करने के लिए उन्होंने बताया, ‘अपने डर को स्वीकार करो और दूसरों से इसके बारे में बातचीत भी करो। आपका जो मन करता है और जो आपको पसंद है आपको दिन भर वही करना चाहिए। हर रोज की एक दिनचर्या होनी चाहिए और उसी के हिसाब से आपको दिन बिताना चाहिए। प्रकृति की सुंदरता को भी निहारने में पीछे न रहें। मेडिटेशन और एक्सरसाइज करना बहुत जरूरी है। इस दौरान आप अपनी कलाओं को भी बाहर निकालने में वक्त बिता सकते हैं। उन लोगों के साथ हमेशा संपर्क में रहें जिनसे आप प्यार करते हैं। संगीत सुनिए। तनाव और चिंता का सामना कीजिए और अंतिम बात, बिल्कुल मत शरमाइए।’

बता दें कि वर्ष 2014 में जब दीपिका पादुकोण का रणबीर कपूर से ब्रेकअप हो गया था तब वह भी अवसाद और तनाव जैसी परेशानियों से ग्रसित हो गई थीं। उस समय उन्होंने इस दर्द को समझा और एक एनजीओ ‘द लिव लव लाफ फाउंडेशन’ की शुरुआत की। अपने एनजीओ के लिए शानदार काम करते हुए दीपिका को क्रिस्टल अवार्ड से भी नवाजा जा चुका है। दीपिका इस साल की शुरुआत में ही रिलीज हुई फिल्म ‘छपाक’ में एक तेजाब हमले की पीड़ित महिला मालती के किरदार में नजर आ चुकी हैं। इसी साल वह अपने पति रणवीर सिंह के साथ फिल्म ’83’ में कैमियो करती नजर आएंगी। इसके अलावा शकुन बत्रा के निर्देशन में बनने वाली एक फिल्म में वह सिद्धांत चतुर्वेदी और अनन्या पांडे के साथ पर्दा साझा करेंगी।