आखिरी वन डे में हार के बावजूद भारत ने 3-2 से जीती अंडर-19 सीरीज

- in TOP NEWS, खेल

लखनऊ:  गेंदबाजों के सधे हुए प्रदर्शन के बाद बल्लेबाजी की बदौलत अफगानिस्तान ने अंडर-19 क्रिकेट सीरीज के आखिरी मैच में भारत को दो विकेट से मात दी. हालांकि भारत ने सीरीज 3-2 से जीत ली. अटल इकाना स्टेडियम में भारत ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया लेकिन टीम 49.3 ओवर में 157 रन बनाकर आउट हो गई. जवाब में अफगानिस्तान ने 45.3 ओवर में आठ विकेट खोकर लक्ष्य हासिल कर लिया. भारत की पहले बल्लेबाजी करते हुए शुरुआत अच्छी नहीं रही और 63 रन के स्कोर पर ही आधी टीम पवेलियन लौट गई. हालांकि बंसल 14) और सीटीएल रक्षण (15) ने स्कोर को आगे बढ़ाया और पूरी टीम 157 रन ही बना सकी.
अफगानिस्तान से चाइनामैन गेंदबाज नूर अहमद ने 39 रन देकर तीन विकेट लिए. शफीक उल्ला गफ्फारी और आबिद मोहम्मदी ने दो-दो विकेट चटकाए. भारत से सबसे ज्यादा 29 रन विक्रांत भदौरिया ने बनाये.   लक्ष्य का पीछा करने उतरे अफगानिस्तान के दोनों सलामी बल्लेबाज मात्र आठ रन के स्कोर पर पवेलियन लौट गए. उसके बाद इमरान मीर (31) और आसिफ मूसाजई (42) ने तीसरे विकेट के लिए 49 रन जोड़े लेकिन फिर अफगानिस्तान के सात विकेट 106 रन पर गिर गए. हालांकि अब्दुल रहमान रहमानी (17) और गफ्फारी (25) ने टीम को जीत के नजदीक पहुंचाया और गफ्फारी ने फिर आबिद मोहम्मदी के साथ टीम को लक्ष्य तक पहुंचा दिया. भारत से मानव सुतार ने 32 रन देकर तीन विकेट लिए. शुभांग हेगड़े ने भी दो विकेट चटकाए. गफ्फारी को मैन ऑफ़ द मैच चुना गया जबकि सुतार को मैन ऑफ़ द सीरीज का खिताब मिला.

तो वेस्टइंडीज आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप के शीर्ष चार में बना सकती है जगह

लखनऊ  । वेस्टइंडीज के कप्तान जेसन होल्डर का मानना है कि उनकी टीम विश्व टेस्ट चैंपियनशिप का अंत शीर्ष चार टीमों के रूप में करने में सक्षम है। आईसीसी टेस्ट टीम रैंकिंग में फिलहाल आठवें स्थान पर काबिज वेस्टइंडीज ने शुक्रवार को यहां एकमात्र टेस्ट में अफगानिस्तान को नौ विकेट से हराया और होल्डर ने कहा कि उनकी टीम के लिए विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के शीर्ष पांच में रहना वास्तविक लक्ष्य है। आईसीसी ने होल्डर ने हवाले से कहा, मुझे लगता है कि टेस्ट चैंपियनशिप के अंत में हमारे लिए दुनिया के चौथे या पांचवें नंबर पर आना असंभव नहीं है।  उन्होंने कहा,   दो साल के समय में यह बड़ी उपलब्धि होगी। हमें कुछ कड़ी श्रृंखलाएं खेलनी हैं- इंग्लैंड के खिलाफ खेलना है और फिर दक्षिण अफ्रीका की टीम कैरेबिया आएगी। इसके बाद हमें न्यूजीलैंड जाना हैं। ये सभी अच्छी क्रिकेट टीमें हैं।  होल्डर ने कहा,लेकिन मुझे नहीं लगता कि हम इन्हें हरा नहीं सकते। हमें बस सुनिश्चित करना होगा कि हम इसमें सुधार करते जाएं। ऐसा करने के बाद हम दुनिया की किसी भी टीम को चुनौती दे सकते हैं। दो साल में वास्तविक लक्ष्य दुनिया की तीसरे या चौथे नंबर की टीम बनना होगा। अफगानिस्तान के खिलाफ श्रृंखला विश्व टेस्ट चैंपियनशिप का हिस्सा नहीं थी लेकिन होल्डर का मानना है कि यह अनुभव उन्हें सुधार करने में मदद करेगा।