आखिरकार डिप्टी सीएम केशव मौर्य ने पत्रकारों को माना कोरोना योद्धा

लखनऊ: कोरोना महामारी काल में मीडिया ने लगातार अपने परिश्रम से जनता और राज्य सरकार के बीच सेतु का काम किया पर सरकार की तरफ से उन्हें कोरोना योद्वा नहीं माना गया। इसके लिए कई पत्रकार संगठनों ने शासन के अधिकारियों से मिलकर इसकी मांग की। अब पहली बार डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने कोरोना के दौरान अपनी बेहतरीन भूमिका निभाने वाले पत्रकारों को कोरोना योद्वा कहां है। लॉकडाउन के दौरान डाक्टर्स,सफाई कर्मियों, पुलिस के अलावा मीडिया क्षेत्र से जुडे लोगों ने बेहद कठिन परिश्रम कर अपने जज्बे को दिखाया है।

उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहां कि भारत वसुधैव कुटुम्बकम की भावना के साथ कोरोना संक्रमण के विरूद्ध लड़ाई लड़ रहा है। उन्होने कहां कि कोरोना संक्रमण के विरूद्ध तो हम पूरी मुस्तैदी के साथ लड़ाई लड़ ही भी रहे हैं और हम अपनी अर्थव्यवस्था को ध्यान में रखते हुए विकास कार्यों को भी मुक्कमल अंजाम देने में लगे हुए हैं, ताकि कुशल कामगारों की प्रतिभा और हुनर का उपयोग करते हुये हम उन्हें अधिक से अधिक उनकी अपेक्षाओं के अनुसार काम दे सकें और उन्हे आत्मनिर्भर व स्वावलम्बी बना सकें।

बेबीनार के जरिये की पत्रकारों से बात

केशव प्रसाद मौर्य अपने आवास से वेबिनार के जरिये मेरठ के पत्रकारों से वार्ता कर रहे थे। उपमुख्यमंत्री केशव मौर्य ने कहां कि कोरोना के साथ-साथ लोगों को काम दिलाना भी एक चुनौती है और इस दिशा में भारत सरकार व प्रदेश सरकार द्वारा बहुत ही कारगर व क्रांतिकारी कदम उठाये गये हैं। मौर्य ने कहां कि कोरोना के खिलाफ जंग में पत्रकारों का बहुत बड़ा सराहनीय योगदान है। पत्रकारों ने अपनी सकारात्मक भूमिका का निर्वाहन करते हुए इस जंग में न केवल सरकार की मदद की है बल्कि वास्तविक तथ्यों को समाज के सामने रखकर एक सही दिशा देने का काम कर रहे हैं।

कहा, सरकार ‘आत्मनिर्भर भारत’ बनाने की दिशा में कर रही

उन्होने पत्रकारों से वार्ता करते हुए कहा कि पत्रकार भी कोरोना योद्धा हैं और हम उनका सम्मान कोरोना योद्धा की तरह ही करते हैं। उन्होने पत्रकारों से बात करते हुये उनके तमाम सवालों के जवाब दिये, तमाम शंकाओं व आशंकाओं का निराकरण किया और उनके महत्वपूर्ण सुझाव भी लिये तथा सुझावों पर आवश्यक कार्यवाही करने का आश्वासन भी दिया। उन्होने कहां हमें अपने नेतृत्व, चिकित्सकों व कोरोना योद्धाओं पर गर्व है, जो पूरी मेहनत व ईमानदारी के साथ इस लड़ाई को लड़ रहे हैं। श्री मौर्य ने कहा कि आत्मनिर्भर भारत बनाने की दिशा में सरकार चल पड़ी है।