पिकनिक मनाने गए पांच युवक झरने में डूबे, 15 घंटे के बाद मिले शव

पिकनिक मनाने गए पांच युवक झरने में डूबे, 15 घंटे के बाद मिले शव
प्रतीकात्मक फोटो

प्रयागराज: प्रयागराज से रीवा क्योटी फॉल पिकनिक मनाने पहुंचे 6 छह युवक रविवार शाम को डूब गए। इस घटना से हड़कंप मच गया। पिकनिक मनाने रीवा गए युवकों के झरने में डूबने की खबर पहुंचने पर उनके घरों में कोहराम मच गया। शहर से पहुंचे परिजन तलाश में जुटे रहे और तब जाकर 15 घंटे बाद युवकों के शव मिले। जिनकी लाशें देखकर परिजन बदहवास से हो गए। वहां मौजूद रिश्तेदारों व अन्य लोगों ने किसी तरह उन्हें संभाला और तब जाकर सभी शव लेकर घरों के लिए रवाना हुए। 

हादसे में मृत प्रज्जवल राजकीय इंटर कॉलेज में कक्षा छह का छात्र था। उसके पिता मुकेश प्राइवेट नौकरी करते हैं। वह तीन भाइयों में सबसे छोटा था। पिता मुकेश ने बताया कि सुबह 8.30 बजे के करीब प्रज्जवल अपने दोस्तों संग यह कहकर घर से निकला कि रात तक घर आ जाएगा। शाम चार बजे के करीब बेटे के साथ गए अंकुर ने फोन कर बताया कि प्रज्जवल व अन्य साथी नहाते वक्त झरने में डूब गए हैं तो घरवाले परेशान हो उठे।

एक घंटे बाद फिर बात हुई तो बताया कि बहुत ढूढने के बाद भी उनका कुछ पता नहीं चला। रात 8 बजे के करीब अंकुर अपने एक अन्य साथी संग शहर पहुंचा और पूरी घटना बताई। जिसके बाद वह उन दोनों व अपने कुछ रिश्तेदारों को लेकर चल दिए। 12 बजे के करीब वहां पहुंचकर उन्होंने पुलिस को सूचना दी लेकिन रात होने के कारण कोई कार्रवाई करने में असमर्थता जता दी गई।

पाक सेना प्रमुख बाजवा और अमेरिका के विशिष्ट प्रतिनिधि ने की मुलाकात

सुबह छह बजे के करीब पुलिस ने खोजबीन शुरू कराई जिसके एक घंटे बाद एक-एक करके पांच शव मिल गए। जिनमें से एक उनका बेटा प्रज्जवल था। बेटे की लाश देखते ही वह बदहवास से हो गए। अन्य परिजनों ने किसी तरह संभाला जिसके बाद सभी शव लेकर घरेां के लिए रवाना हुए। इससे पहले सूचना मिलने पर झरने में डूबे अन्य युवकों के परिजन भी मौके पर पहुंच गए थे।

ये हुए हादसे के शिकार

1. राहुल गुप्ता उर्फ लक्ष्मी उम्र 24 वर्ष
2. यश केसरवानी उम्र 17 वर्ष
3. प्रज्वल केसरवानी उम्र 18 वर्ष
4. गोलू पासी उम्र 23 वर्ष (शव की तलाश जारी)
5. अभिषेक सिंह उम्र 19 वर्ष
6. आकाश केसरवानी उम्र 21 वर्ष

हादसे में जान गंवाने वाले प्रज्जवल व यश फुफेरे भाई थे जिनकी आपस में खूब बनती थी। दोनों जीआईसी में पढ़ते थे। उनका ज्यादातर वक्त साथ ही गुजरता था। नियति का खेल देखिए कि आखिरी वक्त में भी उनका साथ नहीं छूटा। बेटों की मौत से दोनों के परिजन बिलखते रहे। 

इंसानियत शर्मसार, शव निकालने को भी वसूले रुपये

इस घटना में कुछ स्थानीय लोगों के रवैये से इंसानियत भी शर्मसार हुई। जिन्होंने नदी में मृत पड़े युवकों के शव बाहर निकालने के लिए भी रुपये वसूले। मृतक प्रज्जवल के पिता मुकेश ने बताया कि सबसे पहले उनके बेटे का शव पानी में उतराता मिला

जिसे बाहर निकालने के लिए कुछ स्थानीय युवकों से कहा गया तो उन्होंने पहले रुपये लिए और तब शव बाहर निकाले। एक और शव उन्होंने रुपये लेकर ही बाहर निकाला। बाद में पुलिस की ओर से गोताखोर बुलाए गए और तब जाकर तीन अन्य शव निकाले गए। पुलिस की मानें तो साथियों के डूबने के बाद दो युवक मौके से भाग खड़े हुए। पुलिस पूरे घटनाक्रम की जांच कर रही है।

दोस्तों देश दुनिया की ताजातरीन सच्ची और अच्छी खबरों को जानने के लिए बनें रहें www.dastaktimes.org के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए https://www.facebook.com/dastak.times.9 और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @TimesDastak पर क्लिक करें।

साथ ही देश और प्रदेश की बड़ी और चुनिंदा खबरों के ‘न्यूज़-वीडियो’ आप देख सकते हैं हमारे youtube चैनल https://www.youtube.com/c/DastakTimes/videos पर। तो फिर बने रहिये www.dastaktimes.org के साथ और खुद को रखिये लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड।