महामारी में सामने आया यूपी पुलिस का मानवीय चेहरा

  • डायल 112 के द्वारा 2 लाख लोगों को खाद्य सामग्री, 45 हजार व्यक्तियों तक दवाईयां पहुंचायीं
  • 26 हजार व्यक्तियों को उनके गंतव्य तक पहुंचानें में की मदद

लखनऊ (अमरेन्द्र प्रताप सिंह) : महामारी कोरोना के दौरान उत्तर प्रदेश की पुलिस का मानवीय चेहरा लोगों के सामने आया है। प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देशों एवं निगरानी के फलस्वरूप यूपी पुलिस के डायल 112 द्वारा जहां एक ओर लाॅक डाउन के दौरान नियमों के अनुपालन की दिशा में सराहनीय प्रयास किये गये, वहीं इस नंबर पर डायल कर मडाड माँगने वाले लोगों को पुलिस सहायता पहुंचाने का काम भी किया है।

अपर मुख्य सचिव, गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने डायल 112 के माध्यम से लाॅक डाउन के दौरान विगत 24 मार्च से 31 मई तक की अवधि में की गई कार्यवाही की विस्तृत जानकारी देते हुये बताया कि लाॅकडाउन के दौरान यूपी 112 पर तैनात पुलिस कर्मियों द्वारा प्रदेश के 2 लाख 80 हजार से अधिक जरूरतमंदों को मदद पहुंचायी गई। जिसमें 2 लाख से अधिक जरूरतमंद व्यक्तियों तक खाद्य सामग्री पहुचाई गई।

आठ हजार लोगों तक गैस सिलेण्डर, दूध और पेट्रोल आदि भी पहुंचाया

उक्त अवधि में यू0पी0 112 द्वारा बीमार, बुजुर्ग व जरूरतमंद 45 हजार व्यक्तियों तक जीवन रक्षक दवाईयां पहुंचाने व लगभग 26 हजार व्यक्तियों को उनके गंतव्य तक पहुंचानें में सहायता की गई जिनमें गर्भवती महिलाएं, बुजुर्ग, कैंसर के मरीज आदि शामिल है। साथ ही पीआरवी के माध्यम से 8 हजार से अधिक व्यक्तियों तक जरूरी वस्तुएं जैसे घरेलू गैस सिलेण्डर, दूध, पेट्रोल-डीजल आदि पहुंचाने में भी मदद की गई है।

लखनऊ में बिलखती बची को पहुंचाया दूध का डिब्बा

अपर पुलिस महानिदेशक, डायल 112 असीम अरूण द्वारा इस संबंध में जानकारी देते हुये बताया गया है कि लाॅकडाउन के दौरान पीआरवी 112 के माध्यम से वहां की मीडिया डेस्क पर बिहार प्रान्त से आदर्श कुमार सिंह से ट्वीट मिला कि उनकी पत्नी नवजात बच्ची के साथ लखनऊ में रहती है। बच्ची का मिल्क (बेबी फीड) खत्म हो गया है, बच्ची भूख से बिलख रही है, सूचना मिलते ही पीआरवी 112 ने आदर्श से संपर्क कर तत्काल बेबी फीड उनके लखनऊ स्थित आवास पर पहुॅचाया।

दिल्ली से बहराइच तक पहुंचाई बुजुर्ग की दवाई

आगे असीम अरुण ने बताया कि बहराइच जिले के मतेहीकला गाॅव में रहने वाले एक बुजुर्ग के हृदय रोग का इलाज दिल्ली से चल रहा है, जिनके पोते द्वारा मदद हेतु ट्वीट किया गया। सूचना को गंभीरता से लेते हुए पीआरवी 112 ने डीसीपी साऊथ दिल्ली परविंदर सिंह से संपर्क किया जिनके द्वारा दवाई को गौतमबुद्धनगर पुलिस को दिया गया। गौतमबुद्धनगर पुलिस द्वारा लखनऊ आ रही एक एंबुलेंस की मदद से बुजुर्ग की दवाई को लखनऊ तक पहुॅचाया गया तथा लखनऊ से बहराइच जा रहे एक इंजीनियर से निवेदन कर बुजुर्ग की दवाई बहराइच तक पहॅुचाने में सफलता प्राप्त की।