आयरलैंड ने बड़े स्कोर का पीछा करते हुए इंग्लैंड पर दर्ज की ऐतिहासिक जीत

साउथैम्पटन: आयरलैंड ने विश्व चैंपियन इंग्लैंड को तीन मैचों की एकदिनी श्रृंखला के आखिरी मैच में सात विकेट से हरा दिया। इंग्लैंड के 328 रनों के जवाब में आयरलैंड ने 3 विकेट पर 329 रन बनाकर जीत हासिल की। आयरलैंड की जीत के हीरो रहे शतकवीर पॉल स्टर्लिंग और कप्तान एंडी बालबर्नी रहे। स्टर्लिंग ने 142 और बालबर्नी ने 113 रन बनाए।

इस मैच में आयरलैंड ने टॉस जीतकर इंग्लैंड को पहले बल्लेबाजी के लिए आमंत्रित किया। इंग्लैंड की शुरुआत खराब रही और 44 रन के अंदर ही जेसन रॉय (1), जॉनी बेयरस्टो (1) और जेम्स विंसे (16) जल्दी आउट हो गए। इसके बाद कप्तान मॉर्गन और बैंटन (58) ने चौथे विकेट के लिए 146 रनों की शतकीय साझेदारी करके इंग्लैंड को मजबूती देने की कोशिश की।

मॉर्गन का विकेट चौथे विकेट के रूप में 190 के स्कोर पर गिरा। उन्होंने 84 गेंदों पर 15 चौके और चार छक्के लगाए और 106 रनों की शानदार शतकीय पारी खेली,यह उनके एकदिनी कैरियर का 14वां शतक था। बैंटन ने 51 गेंदों पर छह चौके और एक छक्का लगाया। मॉर्गन और बैंटन के आउट होने के बाद निचले क्रम में विले ने 42 गेंदों पर तीन चौके और इतने ही छक्कों की मदद से 51 रन बनाए।

टॉम करन ने 54 गेंदों पर चार चौकों की मदद से नाबाद 38 रनों की पारी खेली। इंग्लैंड की टीम 49.5 ओवर में 328 रनों पर ऑल आउट हो गई। आयरलैंड की ओर से तेज गेंदबाज क्रेग यंग ने सर्वाधिक तीन और जोश लिटिल तथा कर्टिस कैंफर ने 2-2 विकेट झटके। मार्क अडयार और गारेथ डेलनी को 1-1 विकेट मिला।

329 रनों के विशाल लक्ष्य का पीछा करने उतरी आयरलैंड की टीम को 50 रनों के कुल स्कोर पर पहला झटका लगा। सलामी बल्लेबाज ग्रेथ डेलनी महज 12 रन बनाकर आउट हुए। इसके बाद स्टर्लिंग और कप्तान एंडी बालबर्नी ने दूसरे विकेट के लिए 214 रनों की साझेदारी की।264 रन पर स्टर्लिंग 142 रन बनाकर रन आउट हुए लेकिन तब तक आयरलैंड की टीम जीत के करीब पहुंच चुकी थी।

स्टर्लिंग ने 128 गेंद पर 9 चौके और 6 छक्के की मदद से यादगार पारी खेली। जबकि कप्तान बालबर्नी ने 112 गेंदों पर 12 चौकों की मदद से 113 रन बनाए। हैरी टेक्टर और केविन ओब्रायन ने आखिरी में क्रमश: 29 और 21 रन की नाबाद पारी खेलकर टीम को 49.5 ओवरों में ऐतिहासिक जीत दिला दी।

इंग्लैंड की तरफ से डेविड विले और आदिल राशिद को एक-एक विकेट मिला, जबकि इंग्लिश टीम को एक विकेट रन आउट के रूप में मिला। हालांकि इंग्लैंड ने इस श्रृंखला के पहले दो मैच जीतकर श्रृंखला पर पहले ही कब्जा कर लिया था।