कानपुर कांड: शहीद इंस्पेक्टर का बेटा बोला-गुनहगारों की गिरफ्तारी नहीं एनकाउंटर हो

शहीद इंस्पेक्टर नेबूलाल (फाइल फोटो)

पुलिस को खुली छूट दिए जाने की मांग

लखनऊ, 5 जुलाई, दस्तक (ब्यूरो): यूपी के गैंगस्टर विकास दुबे को पकड़ने गई पुलिस पर जानलेवा हमला हुआ था जिसमें 8 पुलिसकर्मी शहीद हो गए। इनमें एक शहीद इंस्पेक्टर नेबूलाल भी थे जिनके बेटे अरविंद ने कहा कि इसमें जो लोग भी शामिल हैं, चाहे पुलिस विभाग के लोग हों या विकास दुबे गैंग के, उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए। अरविंद ने ऐसे लोगों के एनकाउंटर किए जाने की मांग उठाई।

फाइल फोटो

अरविंद ने कहा कि उन्हें कानपुर रेंज के आईजी मोहित अग्रवाल ने बताया था कि कोई भी अपराधी हो, उसे नहीं छोड़ा जाएगा। इसलिए उम्मीद है कि जो लोग भी इस घटना के जिम्मेदार हैं उनके खिलाफ जरूर कार्रवाई होगी। पार्टियों पर हमला बोलते हुए अरविंद ने कहा कि 2001 में ही विकास दुबे अपराध की दुनिया में उतर गया था। तब से प्रदेश में समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी और भारतीय जनता पार्टी की सरकार रही है। इसलिए ये पार्टियां एक दूसरे पर आरोप न लगाएं। यूपी पुलिस जो कार्रवाई कर रही है, उसे पूरी छूट दी जाए और उन पर कोई दबाव न बनाया जाए।

विकास दुबे को सियासी संरक्षण देने का आरोप

चौबेपुर थाने के पुलिसकर्मियों की विकास दुबे से मिलीभगत की जानकारी सामने आई है। यह भी कहा जा रहा है कि थाने से किसी ने विकास दुबे को मुठभेड़ की जानकारी दी थी। इस पर अरविंद ने कहा कि उनके पिताजी बताते थे कि जितने अपराधी हैं उन्हें बचाने के लिए पुलिस विभाग के लोग ही मदद करते हैं। अरविंद ने यूपी सरकार से मांग की कि इस कांड में जो भी अपराधी शामिल हैं, उन्हें सजा न मिले बल्कि उनका एनकाउंटर हो।