कांग्रेस को लताड़ने में मायावती योगी के साथ, खूब सुनाई खरी खोटी

लखनऊ:  बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती इन दिनों लगताार कांग्रेस पर हमलावर है। कांग्रेस को लताड़ने में वह कई बार मुख्यमंत्री योगी का साथ देती हुयी दिखाई पड़ती हैं। यहीं नहीं वह कई बार योगी सरकार के कामकाज की सराहना भी कर चुकी हैं।

कांग्रेस और भाजपा सरकारों के बीच कुछ दिन से चल रहे श्रमिकों को बस से लाने के विवाद में भी बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती ने कांग्रेस को खूब खरी-खोटी सुनाई है। अब इसी कड़ी में कांग्रेस ने मायावती को हमला करने का एक और मौक़ा दे दिया है। दरअसल राजस्थान की कांग्रेस सरकार ने उत्तर प्रदेश सरकार को 36.36 लाख रुपये का बिल भेजकर नया विवाद खड़ा कर दिया है। यह बिल कोटा से यूपी लाए गए बच्चों के लिए 70 बसें उपलब्ध करवाने को लेकर भेजा गया है।

ताजा मामले में मायावती ने ट्विट कर कहा कि राजस्थान की कांग्रेस सरकार द्वारा कोटा से करीब 12000 युवक-युवतियों को वापस उनके घर भेजने पर हुए खर्च के रूप में यूपी सरकार से 36.36 लाख रुपये और देने की जो मांग की गई है, वह उसकी कंगाली व अमानवीयता को प्रदर्शित करता है। उन्होंने इसे घटिया राजनीति ही कहा जाएगा। यह दो पड़ोसी राज्यों के बीच ऐसी घिनौनी राजनीति अति-दुखद है।

उन्होंने लिखा कि राजस्थान सरकार एक तरफ कोटा से यूपी के छात्रों को अपनी बसों से वापस भेजने के लिए मनमाना किराया वसूल रही है। वहीं दूसरी तरफ अब प्रवासी मजदूरों को यूपी में उनके घर भेजने के लिए बसों की बात कर रही है। मायावती ने कहा कि ऐसा करके कांग्रेस जो राजनीतिक खेल खेल कर रही है यह कितना उचित व कितना मानवीय है?

बसपा प्रमुख ने अम्फान तूफ़ान को लेकर व्यक्त की संवेदना

इसके साथ ही मायावती ने अम्फान तूफान को लेकर भी संवेदना व्यक्त की। बसपा सुप्रीामों ने कहा कि तूफान के तांडव से खासकर पश्चिम बंगाल में जो व्यापक तबाही व बर्बादी हुई है वह अति दुखद है। जनजीवन बुरी तरह से प्रभावित है। ऐसे में खासकर केंद्र सरकार को आगे बढ़कर हर प्रकार से राज्य को वहां के हालात सामान्य बनाने में मदद करनी चाहिए।