एक साथ 42 ठिकानों पर छापेमारी, 11 गिरफ्तार, 18 हिरासत में

लखनऊ : उत्तर प्रदेश में माफियाओं के गुर्गों पर एक साथ 42 ठिकानों पर छापेमारी (Raid in lucknow) की गई। यह छापेमारी मुख्तार अंसारी (Mukhtar Ansari), खान मुबारक (Khan mubarak), अन्नू त्रिपाठी (Annu tripathi) और सुरेंद्र कालिया गैंग (Surendra kalia gang) से जुड़े हैं। उत्तर प्रदेश (Uttar pradesh news) पुलिस ने 11 लोगों को गिरफ्तार किया है वहीं 18 लोगों को हिरासत में रखकर पूछताछ की जा रही है। इस कार्रवाई के तहत 11 लोगों को गिरफ्तार किया गया। पुलिस ने 18 लोगों को हिरासत में लिया है।

पकड़े गए अधिकांश मुख्तार अंसारी, खान मुबारक, अन्नू त्रिपाठी, सुरेंद्र कालिया और सीरियल किलर भाईयों के गैंग से जुड़े गुर्गे हैं। लखनऊ के कमिश्नर सुजीत पाण्डेय ने बताया कि पुलिस ने वजीरगंज इलाके से मुख्तार अंसारी गैंग से जुड़े कलीम के घर पर दबिश दी। दबिश के लिए भारी फोर्स मौके पर तैनात की गई थी। इसके अलावा सीरियल किलर भाइयों सलीम रुस्तम और सोहराब गैंग के सदस्य शहजादे कुरैश को गिरफ्तार किया गया है। कमिश्नर ने बताया कि छापेमारी के दौरान मुख्तार के तीन गुर्गे गुड्डू गैस वाले, अभिषेक सिंह उर्फ बाबू सिंह और प्रदीप सिंह को गिरफ्तार किया गया है। वहीं गोमती नगर पुलिस ने गैंगस्टर के आरोपी अभिषेक को पकड़ा है। अभिषेक के पास से अवैध असलहा बरामद हुआ है। पुलिस ने बताया कि जब अभिषेक के सेक्टर K स्थित घर पर छापेमारी की गई तो उसके यहां पुलिस को अवैध पिस्तौल और कई कारतूस मिले। इसके अलावा पुलिस ने अभिषेक के घर से बम बनाने का सामान भी बरामद किया है।

पुलिस ने बताया कि अभिषेक बम बनाने में एक्सपर्ट है। अभिषेक बाबू, मुख्तार अंसारी के नाम पर ज़मीन कब्ज़ा करने का काम करता था। उसके खिलाफ करोड़ों रुपये की जमीन कब्जा करवाने और करने के आरोप हैं। सुजीत पाण्डेय ने बताया कि कुल रिकवरी 3 पिस्टल 24 राउंड खौके मिलें हैं। पुलिस कमिश्नर ने बताया कि तलाशी के दौरान कुछ लोगों के पास से बुलेट प्रूफ जैकेट मिली हैं। यहां तक कि 5 मोटरोला के सेट मिलें हैं जिसमें पुलिस की फ्रीक्वेंसी कैच होती थी। आकाश के पास से बड़ी संख्या में इंजेक्शन मिलें हैं जिससे अवैध तरीके से ब्लड सप्लाई किया जाता था।
यूपी की राजधानी में माफियाओं का राज किसी हाल में नहीं चलने दिया जाएगा। माफियागिरी नहीं चलेगी, आगे भी इस तरह की कार्रवाई जारी रहेगी।