स्पेशल चैंपियन सम्मान पाकर हुए गदगद

- in TOP NEWS, खेल, लखनऊ
लखनऊ। अबुधाबी में हुए वर्ल्ड समर गेम्स में पदक जीतने वाले राज्य के खिलाड़ियों को जब सोमवार को जब फूलों का माला पहनाकर उन्हें प्रशस्ति पत्र दिया गया तो पूरा वातावरण तालियों से गूंज उठा। अपने घर में यह सम्मान पाकर सभी खिलाड़ी गदगद हो गए। इन खिलाड़ियों के सम्मान में यह समारोह साहस स्पोर्ट्स अकादमी व सरस्वती एजुकेशनल फाउण्डेशन ने केडी सिंह बाबू स्टेडियम में किया। समारोह के मुख्य अतिथि खेल निदेशक डा. आरपी सिंह और भारतीय ओलंपिक संघ के कोषाध्यक्ष आनंदेश्वर पाण्डेय ने खिलाड़ियों को सम्मानित किया।
वर्ल्ड समर गेम्स में पदक विजेताओं का हुआ सम्मान
जिन खिलाड़ियों का सम्मान हुआ उनमें दो स्वर्ण पदक जीतने वाली आशा आवा की रोलर स्केटर प्रिया कुशवाहा, एक स्वर्ण और एक कांस्य पदक विजेता अस्मिता स्कूल के साइकिलिस्ट अलंकृत गुप्ता, एक स्वर्ण व एक रजत पदक विजेता आशा ज्योति की एथलीट पूजा शंकर, एक रजत और तीन कांस्य पदक जीतने वाले चेतना की पावरलिफ्टर इच्छा पटेल, बास्केटबाल में कांस्य पदक जीतने वाले बास्केटबाल राहुल सिंह, रजत पदक विजेता कानपुर के वॉलीबाल खिलाड़ी रीतेश और साइकिलिंग में रजत पदक जीतने वाले इटावा के वरुण कुमार शामिल हैं। इनके अलावा कोच कृष्णा शर्मा (कानपुर), मनोज कुमार (वाराणसी), अरुण कुमार (आगरा) और स्पेशल खेलों में विशेष योगदान के लिए एजाज अख्तर सिद्दीकी (लखनऊ) को भी सम्मानित किया गया।
इस मौके पर खेल निदेशक डा. आरपी सिंह ने कहा कि वह स्पेशल खिलाड़ियों की बात सरकार तक पहुंचाएंगे। उनके स्टेडियम और स्पेशल खिलाड़ियों के लिए हमेशा खुले हैं। स्पेशल खिलाड़ियों को खेल विभाग हर संभव मदद  प्रदान करेगा।
वहीं उत्तर प्रदेश ओलंपिक संघ के महासचिव आनंदेश्वर पाण्डेय ने कहा कि वह सामान्य खिलाड़ियों की तरह स्पेशल खिलाड़ियों के लिए भी राज्य खेल आयोजित करवाएंगे। साथ ही स्पेशल खिलाड़ियों के प्रशिक्षण की व्यवस्था करेंगे। इस मौके पर साहस स्पोर्ट्स अकादमी की डा. सुधा बाजपेयी ने कहा कि इस बार वह हौसला स्पेशल गेम्स का आयोजन राष्ट्रीय स्तर पर करेंगी।
इस मौके पर उत्तर प्रदेश कराटे संघ के अध्यक्ष टीपी हवेलिया, यूपी हैंडबॉल एसोसिएशन के उपाध्यक्ष सैयद रफत, शतरंज संघ के एसके तिवारी, उत्तर प्रदेश रोइंग संघ के सचिव सुधीर शर्मा, आशा आवा की प्रधानाचार्या श्रीमती बासु, क्षेत्रीय क्रीड़ाधिकारी जितेंद्र कुमार समेत तमाम लोग मौजूद थे।