शिक्षक विजय की ऐसी लगन की हर त्यौहार को मनाते है पर्यावरण से जोड़कर

- in उत्तर प्रदेश

बाराबंकी (उमेश यादव): पर्यावरण प्रेमी शिक्षक विजय प्रताप की ऐसी लगन की वह अपने विद्यालय में शिक्षण दायित्वों का बखूबी निर्वहन करने के साथ-साथ पर्यावरण को हरा रखने की हरियाली मुहिम को भी चला रहे है।वह हर त्यौहार को पर्यावरण से जोड़कर मनाते है।लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों को ध्यान में रखते हुए रक्षाबंधन पर्व सप्ताह के सुअवसर पर शिक्षक व पर्यावरण प्रेमी विजय प्रताप सिंह शुक्रवार को अपने साथी शिक्षकों के साथ विकास खण्ड देवा के प्राथमिक विद्यालय तिन्दोला 2 में पहुँचकर शिक्षिका बहनों से रक्षा सूत्र बंधवाया और उपहार स्वरूप सभी शिक्षिका बहनों को एक-एक पौध भेंट किया और विद्यालय परिसर में पौधरोपण भी किया।

शिक्षक व पर्यावरण प्रेमी विजय प्रताप सिंह विकास खंड देवा के प्राथमिक विद्यालय कुसुम्भा में प्रधानाध्यापक पद पर कार्यरत है।समाज में उनकी पहचान शिक्षक के साथ पर्यावरण प्रेमी के रूप में विख्यात है।उन्होंने मिशन हरियाली के तहत अबतक हजारों फल और छायादार पौधों का रोपण किया है, साथ ही मांगलिक शुभ अवसरों पर लोगों को उपहार के रूप में पौधे भेंट करना उनका सबसे बड़ा शौक है।

पर्यावरण प्रेमी शिक्षक विजय प्रताप सिंह बताते है कि पॉलीथिन मानव जीवन के लिए बहुत ही नुकसानदायक है।हर स्तर पर इसका का बहिष्कार किया जाना चाहिए।उन्होंने कहा कि जिस अनुपात में पेड़ों की कटान हो रही है उस हिसाब से हम सभी को अधिक से अधिक पौधरोपण करना चाहिए। हरित पर्यावरण व मानव जीवन में स्वास्थ्य के महत्व के प्रति लोगों को जागरूक करने की जरूरत है।

विजय प्रताप सिंह की पर्यावरण के प्रति ऐसी लगन लगी कि वह अब सभी त्यौहार को पर्यावरण से जोड़ते हुए मनाते हैं और लोगों को जागरूक कर रहे हैं।इसलिए लोग विजय को अध्यापक के साथ-साथ पर्यावरण प्रेमी भी कहते हैं।शिक्षक विजय शादी, विवाह, मुन्डन, जन्मदिन, सालगिरह सहित सभी मांगलिक कार्यों में उपहार स्वरूप लोगों को पौधे भेंट कर बधाई देते हैं और पर्यावरण के प्रति जागरूक करते हैं।

प्रत्येक माह अपने वेतन का करीब 10 प्रतिशत सामाजिक कार्यों और पर्यावरण के प्रति लोगों को जागरूक करने में खर्च करने वाले शिक्षक विजय प्रताप सिंह बताते हैं कि साधारण धूम्रपान करने वाला एक व्यक्ति लगभग ₹100 से ₹200 तक अपने शरीर पर खर्च कर देता है। जिसका उसे कोई लाभ नहीं होता है सिवाय हानि के, हम भी उसी तरह एक नशा के रूप में पर्यावरण को मनाते हैं और यह मानकर चलते हैं कि आने वाली पीढ़ी के लिए अधिक से अधिक पौध लगाकर लोगों को पर्यावरण के प्रति जागरूक कर समाज को स्वच्छ एवं सुंदर वातावरण प्रदान कर सके, इसके लिये हम सदैव संकल्पित रहते हैं।

इसी क्रम में रक्षाबंधन पर्व सप्ताह के अवसर पर बहनों से राखी बंधवा कर उपहार स्वरूप एक एक पौधा भेंट कर मिशन हरियाली के लिए आशीर्वाद प्राप्त किया और विद्यालय परिसर में पौधरोपण किया गया।सभी बहनों से संकल्प लिया कि नित इन पेड़ -पौधों की रक्षा करना और पर्यावरण को स्वच्छ बनाने के लिए सदैव प्रयास करते रहना। इस अवसर पर शिक्षिका बहनें श्रीमती आशा राय, रुची चतुर्वेदी,अंजना मिश्रा , विनीता सिंह, कंचन गुप्ता, अर्चना वर्मा, रिचा चौधरी, अनु सोनकर,आरती वर्मा एवं शिक्षक भाई विवेक वर्मा, उमेश यादव और अमित वर्मा उपस्थित रहे।

 प्राथमिक विद्यालय तिन्दोला 2 की प्रधानाध्यापिका श्रीमती आशा राय ने बताया कि पर्यावरण सुरक्षा कवच अपनाकर जीवन को बचाया जा सकता है।पर्यावरण व जीवन के बीच अटूट रिश्ता है। इस संबंध को हमेशा बेहतर बनाये रखने के लिये हम सभी लोगों को आगे आना होगा और अधिक से अधिक पौधरोपण करना चाहिए। 

प्रदूषण और ग्लोबल वार्मिंग के कारण हमारे पर्यावरण की स्थिति दिन-ब-दिन गिरती जा रही है। हमें अपने देश में बेहतर भविष्य के लिए पर्यावरण को बचाने के लिए पर्यावरण के अनुकूल त्यौहार मनाना चाहिए जिससे देश और समाज का विकास हो सके ।

विवेक कुमार वर्मा,सहायक अध्यापक पूर्व माध्यमिक विद्यालय -मैंनाहार,विकासखंड-देवा