इस माह गुरु के राशि परिवर्तन से इन राशियों की परेशानियां होंगी थोड़ी कम…

30 जून को ज्ञान, गुरु, शिक्षा का कारक बृहस्पति मकर राशि से धनु राशि में प्रवेश करेंगे और 20 नवंबर 2020 तक इसी राशि में रहेंगे। धनु राशि देव गुरु बृहस्पति की स्वराशि है। गुरु अपनी राशि में प्रबल होगा और अन्य राशियों को प्रबल गुरु का लाभ प्राप्त होगा। गुरु के इस गोचर से इन छह राशियों को सर्वाधिक लाभ होने की संभावना है। 

मेष राशि-
नवम भाव में गुरु का गोचर आपके लिए शुभ होगा। कुंडली में नवम भाव धर्म, यात्रा, गुरु और ज्ञान को दर्शाता है। गुरु के इस भाव में होने से धर्म-कर्म के कार्यों मे आपकी सक्रियता बढ़ेगी। समाज की भलाई के लिए आप कार्य करेंगे। गुरु आपके ज्ञान में वृद्धि करेगा। गुरु का गोचर समाज में आपकी मान-सम्मान में वृद्धि कराएगा। कार्य क्षेत्र में आपको इस दौरान अच्छे परिणाम भी प्राप्त हो सकते हैं।

कन्या राशि-
चौथे भाव में गुरु आपके सुखों में वृद्धि करेगा। यहां गुरु का स्थान आपकी माता जी के लिए शुभ होगा। इस दौरान आपके आर्थिक संसाधनों में वृद्धि होगी। इस दौरान आप कोई घर अथवा वाहन आदि खरीद सकते हैं। अपनी उपलब्धियों को लेकर आप खुश दिखाई देंगे। यदि माता जी की सेहत खराब है तो उन्हें यह गोचर स्वास्थ्य लाभ दिलाएगा।

वृश्चिक राशि-
धन भाव में गुरु का होना आपके आर्थिक जीवन के लिए शुभ होगा। इस दौरान आपकी आमदनी में वृद्धि होगी। आप धन बचत कर पाने में भी सफल होंगे। कुंडली का दूसरा भाव आपके कुटुंब के बारे में भी बताता है। इस भाव में गुरु का होना आपके परिवार में सुख-शांति लाएगा। यदि परिजनों के बीच कुछ विवाद चल रहा है तो वह भी गोचर के दौरान सुलझ जाएगा। 

धनु राशि-
धनु गुरु की ही राशि है। आपकी राशि में गुरु का प्रवेश शुभ होगा। आपके स्वभाव में सकारात्मक रूप से बदलाव देखने को मिलेगा। गुरु न केवल आपके ज्ञान में वृद्धि करेगा, बल्कि इसके काराण आपके वैवाहिक जीवन में भी खुशियां आएंगी। जीवनसाथी के साथ रिश्ते मधुर होंगे। नैतिक कार्यों में आपका मन खूब लगेगा। यदि साझेदारी में व्यापार कर रहे हैं तो उसमें यह आपको लाभ दिलाएगा।

कुंभ राशि-
लाभ भाव में गुरु आपकी आमदनी को बढ़ाएगा। यह आपकी आर्थिक स्थिति में सुधार लाएगा। गुरु के शुभ प्रभाव से आपकी आय के साधन बढ़ेंगे। इसके साथ ही इस दौरान आपको किसी क्षेत्र में कामयाबी मिल सकती है। घर में बड़े भाई बहनों का साथ मिलेगा। यदि उनके साथ रिश्तों में खटास है तो वह भी दूर होगी। 

मीन राशि-
गुरु आपकी कुंडली में दशम भाव में प्रवेश करेगा। कुंडली के इस भाव से नौकरी, व्यापार आदि का विचार किया जाता है। इस भाव में गुरु का होना आपके कार्यक्षेत्र के लिए शुभ होगा। यदि नौकरी को लेकर कोई परेशानी चली आ रही थी तो वह दूर होगी। नौकरी अथवा कारोबार लाभ होगा।