तिरहुत नहर का बांंध टूटा, दर्जनों गांवों में फैला पानी, बचाव और राहत कार्य जारी

मुज़फ़्फ़रपुर (एजेंसी): मुजफ्फरपुर जिले के सकरा और मुरौल प्रखण्ड के सीमावर्ती इलाके के मोहमदपुर कोठी गांंव के समीप तिरहुत नहर का बांंध रविवार की अहले सुबह करीब बीस से तीस फ़ीट में टूट गया। बांंध टूटने से कोरिगम्मा,झाप सहित दर्ज़नों गांंवों मे पानी फैल गया है। आसपास के करीब आधा दर्जन गाँव जलमग्न हो गये हैंं। लोग पानी की तेज धारा देख कर काफी डरे हुए हैंं। लोगों ने बताया कि जिस हिसाब से पानी की रफ़्तार है, गाँव तो दूर रूपनपट्टी के समीप एनएच 28 पर भी पानी चढ़ जाएगा।

बता देंं कि तिरहुत नहर मूलतः बराज से आती है। इसमें गंडक नदी का पानी छोड़ा जाता है। बूढ़ी गंडक परियोजना के एक वरीय अधिकारी ने बताया कि मोहमदपुर कोठी में ही बूढ़ी गंडक का पानी तिरहुत नहर में छोड़ा जाता है जिससे दबाब बढ़ जाने के कारण बांध टूट गया है। इससे कहा जा सकता है कि तिरहुत नहर में दो नदियांं गंडक और बूढ़ी गंडक का पानी तेजी से निकल रहा है और आसपास का इलाका बाढ़ की चपेट में आने लगा है।

घर के साथ साथ सैकड़ो एकड़ में लगी फसले भी इस तबाही का शिकार हो गयी हैंं जिससे आसपास के किसानों के अरमानों पर पानी फिर गया है। लोगो ने बताया कि सबसे ज्यादा दिक्कत इसलिए खड़ी हो गयी कि लोग घर में सोये ही थे कि इसी बीच बांध टूट गया और किसी को भी सुरक्षित स्थान पर निकलने का समय नही मिला। इसकी सूचना मिलते ही प्रभावित गांंवों मेंं तत्काल एनडीआरएफ की दो टीमें लगाई गई हैंं जो फंसे लोगों को सुरक्षित स्थान तक पहुंंचायेंंगी। एसडीओ पूर्वी कुंदन कुमार ने कहा कि तिरहुत नहर का बांध अचानक टूट गया है।कई गांव प्रभावित हुए हैंं और नए इलाकोंं में भी पानी का फैलाव जारी है। उन्होंने बताया कि करीब तीस फ़ीट में बांध टूटा है । प्रशासन प्रभावित लोगों को हर सम्भव मदद पहुंचा रहा है ।एनडीआरएफ की टीमें लगाई गई हैंं ।पानी में फंसे सभी प्रभावित लोगों को सुरक्षित निकालने की कबायद शुरू हो गई है।