Political News - राजनीतिउत्तर प्रदेश

अखिलेश के लिए अाखिर क्या बाेल गए शिवपाल

shivpal-singh-yadav_1476556413 समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष कैबिनेट मंत्री शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि विधान सभा चुनाव में बहुमत मिलना तय है और मुख्यमंत्री के रूप में अखिलेश यादव का ही नाम प्रस्तावित करेंगे। उन्होंने यह भी जोड़ा कि राजनीति का फल किसी को विरासत में मिलता है तो किसी को नसीब से और किसी को ताउम्र मेहनत करने के बाद भी कुछ नहीं मिलता। 

शनिवार को इटावा क्लब में आयोजित फिल्म बाबरी मस्जिद एक प्रेमकथा के मुहूर्त समारोह के बाद कैबिनेट मंत्री शिवपाल सिंह यादव ने परिवार में किसी तरह के विवाद होने से इनकार किया। सपा मुखिया की ओर से सीएम के नाम के फैसले के सवाल पर कहा कि चुनावी प्रक्रिया के तहत विधानमंडल की बैठक में सीएम तय होता है। इसमें वह खुद मुख्यमंत्री के लिए अखिलेश के नाम का प्रस्ताव करेंगे। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की ओर से खुद को अकेला बताने संबंधी सवाल पर पीडब्ल्यूडी मंत्री ने कहा कि वह भी तो अकेले हैं। उन्होंने सवाल किया कि यहां कौन है उनके साथ। प्रदेश बड़ा है, सभी अपना- अपना काम बांट कर करते हैं। उन्होंने सरकार की तमाम योजनाओं को गिनाते हुए कहा कि दोबारा सत्ता मिलने पर हर युवा को नौकरी देंगे। यदि इसमें कामयाब नहीं हो पाए तो हर मेहनती हाथ को काम जरूर मिलेगा।

कैबिनेट मंत्री शिवपाल सिंह यादव ने खुद को नेताजी (मुलायम सिंह यादव) का सबसे बड़ा सेवक बताया। कहा कि उन्होंने नेताजी के कपड़े धोने से लेकर मेहमानों तक की सेवा की। नेताजी का आर्शीवाद और जनता का सहयोग है साथ है, इसी वजह से विधायक व मंत्री बने हैं। राजनीति पूरी तरह समाज सेवा है। राजनीति में किसी को भी लालची व अहसान फरामोश नहीं होना चाहिए। लेकिन बहुत से लोग अहसान नहीं मानते।

 
 

Related Articles

Back to top button