Lifestyle News - जीवनशैलीज्योतिष

इस दिन लगेगा साल का आखिरी सूर्य ग्रहण, जानें सूतक काल की स्थिति

नई दिल्ली: सूर्य ग्रहण और चंद्र ग्रहण की स्थिति को ज्योतिष शास्त्र में अति महत्वपूर्ण खगोलीय घटना माना गया है. पंचांग के अनुसार वर्ष 2021 में चार ग्रहण की स्थिति बनी हुई है. जिसमें से दो सूर्य ग्रहण और दो चंद्र ग्रहण हैं.

वर्ष 2021 का पहला चंद्र ग्रहण 26 मई को लग चुका है. इसक बाद साल का पहला सूर्य ग्रहण, चंद्र ग्रहण के 15 दिन बाद 10 जून 2021 को लगा था. यानि इस वर्ष के दो ग्रहण लग चुके हैं. अब तीसरा ग्रहण, चंद्र ग्रहण है, जो 19 नवंबर को लगने जा रहा है. इस ग्रहण को आंशिक माना जा रहा है. भारत में इसे कुछ ही स्थानों पर देखा जा सकेगा. आस्ट्रेलिया, अमेरिका, उत्तरी यूरोप, प्रशांत महासागर आदि स्थानों पर यह चंद्र ग्रहण पूर्ण रूप से दिखाई देखा. ये वर्ष 2021 का आखिरी चंद्र ग्रहण है. इस चंद्र ग्रहण में सूतक काल मान्य नहीं है.

पंचांग के अनुसार 2021 का पहला सूर्य ग्रहण 10 जून 2021 को लग चुका है. साल 2021 का दूसरा सूर्य ग्रहण 4 दिसंबर 2021 को लगेगा. इस सूर्य ग्रहण का प्रभाव अंटार्कटिका, दक्षिण अफ्रीका, अटलांटिक के दक्षिणी भाग, ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अमेरिका में देखा जा सकेगा. इस सूर्य ग्रहण का भारत पर प्रभाव नहीं होगा. इस ग्रहण को उपछाया ग्रहण माना जा रहा है. इस ग्रहण के दौरान सूतक काल नहीं लगेगा.

सूर्य ग्रहण जब लगता है और ये पूर्ण ग्रहण होता है तो सूतक काल मान्य होता है. सूतक काल, सूर्य ग्रहण से 12 घंटे पूर्व आरंभ होता है. सूतक काल में शुभ कार्य नहीं किए जाते हैं. इस दौरान मंदिरों के कपाट बंद हो जाते हैं. साल के आखिरी सूर्य ग्रहण के दौरान सूतक काल मान्य नहीं है. इसलिए सूतक नियमों का पालन नहीं किया जाएगा.

  1. देश दुनिया की ताजातरीन सच्ची और अच्छी खबरों को जानने के लिए बनें रहेंhttp://dastaktimes.org/ के साथ।
  2. फेसबुक पर फॉलों करने के लिए https://www.facebook.com/dastaklko
  3. ट्विटर पर पर फॉलों करने के लिए https://twitter.com/TimesDastak
  4. साथ ही देश और प्रदेश की बड़ी और चुनिंदा खबरों केन्यूजवीडियो’ आप देख सकते हैं।
  5. youtube चैनल के लिए https://www.youtube.com/channel/UCtbDhwp70VzIK0HKj7IUN9Q

Related Articles

Back to top button