BREAKING NEWSNational News - राष्ट्रीयTOP NEWS

केरल से भागकर कानपुर पहुंचा आइसोलेशन में रखा गया आईएएस अधिकारी

नई दिल्ली : कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए देशव्यापी लॉकडाउन का ऐलान किया गया है. संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में कोई दूसरा न आए, इसके लिए विभिन्न राज्यों के प्रशासनिक अधिकारियों को निगरानी के काम में लगाया गया है. लेकिन केरल में एक आईएएस अफसर की करतूत हैरान करने वाली है. केरल के कोल्लम में तैनात आईएएस अफसर अनुपम मिश्र को कोरोना से संक्रमित होने के संदेह में आइसोलेशन में रखा गया था. केरल सरकार के प्रवक्ता ने गुरुवार की शाम बताया कि यह युवा अधिकारी क्वारेंटाइन की अवधि के बीच में ही लापता हो गया है. प्रवक्ता ने बताया कि जब इस आईएएस अफसर को फोन किया गया, तो उसका लोकेशन कानपुर का मिला. इसके बाद उत्तर प्रदेश सरकार से इस बारे में संपर्क किया गया है. केरल सरकार के प्रवक्ता ने जानकारी दी कि कोल्लम जिले में तैनात डिप्टी कलेक्टर अनुपम मिश्र इस महीने की शुरुआत में ब्रिटेन से लौटे थे. प्रवक्ता ने बताया कि एक आईएएस अफसर की इस तरह की लापरवाही गंभीर मामला है. केरल सरकार इस संदर्भ में यूपी शासन से संपर्क कर रही है. साथ ही इस मामले को केंद्रीय गृह मंत्रालय के संज्ञान में भी लाया जाएगा. प्रवक्ता ने बताया कि पीएम नरेंद्र मोदी के लॉकडॉउन का ऐलान करने से पहले बीते 21 मार्च को ही वह लापता हो गए. कोल्लम के कलेक्टर अब्दुल नासिर ने बताया कि अनुपम मिश्र की इस लापरवाही के बारे में केरल सरकार को बताया गया है. कलेक्टर ने बताया कि अनुपम मिश्र के लापता होने की जानकारी उस समय मिली, जब स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी उनके घर जांच करने पहुंचे. ये जांच अधिकारी अनुपम मिश्र के लापता होने के 2 दिन बाद उनके घर पहुंचे थे. जब जांच अधिकारियों ने अनुपम को फोन किया, तो उनका लोकेशन यूपी के कानपुर का निकला. कलेक्टर ने बताया कि अनुपम मिश्र ने क्वारेंटाइन के बीच यात्रा करने के बारे में पहले से कोई जानकारी नहीं दी थी.

आईएएस अधिकारी की इस लापरवाही को लेकर कोल्लम जिला प्रशासन में हड़कंप मच गया है. इस खबर के सामने आने के बाद कोल्लम जिला प्रशासन ने अनुपम मिश्रा के ड्राइवर, निजी सुरक्षा गार्ड और सेक्रेटरी को आइसोलेशन में रखे जाने का आदेश दिया है. सरकार के प्रवक्ता ने कहा कि ऐसे में जबकि पूरे देश में कोरोना की वजह से 700 से ज्यादा लोगों के संक्रमित होने की खबर है. केरल में भी 126 लोग इस वायरस से पीड़ित हैं, एक आईएएस अधिकारी का यह व्यवहार सवाल खड़े करता है. केरल सरकार के प्रवक्ता ने एक आईएएस अधिकारी के इस तरह लापता होने को लेकर तीखी टिप्पणी की. उन्होंने कहा कि ऐसे में जबकि कोरोना वायरस को लेकर पूरे देश में अलर्ट है, एक प्रशासनिक अधिकारी की लापरवाही गंभीर मामला है. अनुपम मिश्र ने क्वारेंटाइन के नियमों का उल्लंघन किया है. प्रवक्ता ने प्रशासनिक अधिकारियों के कर्तव्य का उदाहरण देते हुए कहा, ‘एक कैप्टन इस तरह जहाज नहीं छोड़ सकता.’ उन्होंने कहा कि अनुपम मिश्र के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया Dastak Times के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...

Related Articles

Back to top button