National News - राष्ट्रीय

जानिए मोहनदास करमचन्द गांधी कैसे बने राष्ट्रपिता

  • Netaji-Subash-Sandhra-Bose-with-Mahatma-Gandhi-1938-300x210रवीन्द्रनाथ टैगोर ने 12 अप्रैल 1919 को लिखे अपने एक पत्र में पहली बार गांधी को ‘महात्मा’ संबोधित किया था।
  • पहली बार नेताजी सुभाषचंद्र बोस ने रेडियो सिंगापुर से 6 जुलाई, 1944 को प्रसारित अपने भाषण में राष्ट्रपिता कहकर संबोधित किया था।
  • गांधीजी के मृत्यु पर पंडित नेहरु जी ने रेडियो द्वारा राष्ट्र को संबोधित किया और कहा “राष्ट्रपिता अब नहीं रहे”।

गांधी जी के बारे में कुछ और खास

  • भारत में 53 मुख्य मार्ग गांधी जी के नाम से भारत में 53 मुख्य मार्ग हैं जबकि विदेशों में 48 सड़के हैं।
  • महात्मा गांधी को पांच बार नोबेल पीस प्राइज के लिए नामांकित किया गया था।
  • अपने पूरे जीवन में गांधीजी ने कभी कोई राजनीतिक पद नहीं लिया।
  • एप्पल के संस्थापक स्टीव जॉब्स गांधी जी को सम्मान देने के लिए गोल चश्मा पहनते थे।
  • महात्मा गांधी हर रोज 18 किलोमीटर पैदल चलते थे। इस लिहाज से गांधीजी ने अपने जीवन में पूरी दुनिया के दो चक्कर पैदल लगाए थे।
  • गांधी जी के कपड़ों सहित उनकी कई वस्तुएं आज भी साबरमती आश्रम में सुरक्षित हैं।
  • महात्मा गांधी की वजह से चार कॉटिनेंट और 12 देशों में सिविल राइट मूवमेंट शुरु हुआ था।
  • जिस अंग्रेज सरकार के खिलाफ गांधीजी ने आंदोलन किया उसी अंग्रेज सरकार ने महात्मा गांधी की मौत 21 साल बाद उनके सम्मान में स्टैम्प जारी किया था।
  • महात्मा गांधी दक्षिण अफ्रीका की जिस नौकरी को छोड़ कर आए थे उसमें उनकी सैलरी 15 हजार डॉलर थी। जो आज के तकरीबन 10 लाख रुपए के बराबर है।
  • महात्मा गांधी अपनी मौत से एक दिन पहले कांग्रेस पार्टी को भंग करने पर विचार कर रहे थे।
  • महात्मा गांधी की अंतिम यात्रा 8 किलोमीटर तक चली थी। राष्ट्रपिता के अंतिम दर्शन के लिए देश भर से लोग आए थे।

 

Unique Visitors

12,977,381
नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया Dastak Times के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...

Related Articles

Back to top button