International News - अन्तर्राष्ट्रीयफीचर्ड

जिया के बेटे का आईएसआई से नाता भारत के लिए चिंताजनक

antrनई दिल्ली (एजेंसी)। भारत भले ही बांग्लादेश के राजनीतिक संकट को वहां का अंदरूनी मामला बता रहा हो  लेकिन विपक्षी बांग्लादेश नेशनलिस्ट पार्टी (बीएनपी) की प्रमुख और पूर्व प्रधानमंत्री बेगम खालिदा जिया के बेटे तारिक रहमान के आईएसआई और कट्टरवादियों से करीबी रिश्ते भारत के लिए चिंताजनक है। भारत के कूटनीतिक हलके में जो गुप्तचर सूचनाएं पहुंच रही हैं उनके अनुसार लंदन में स्वनिर्वासन काल गुजार रहे रहमान (46) का उप महाद्वीप के कट्टरपंथी तत्वों से करीबी संबंध हैं और पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी इंटर सर्विसिज इंटेलीजेंस (आईएसआई) भी उसे मदद दे रही है। अवामी लीग सरकार के सत्ता में आने के बाद लंदन जाने से पहले उसके बीएनपी के वरिष्ठ नेतृत्व से करीबी संपर्क थे। रहमान बीएनपी का वरिष्ठ उपाध्यक्ष है। उसके फेसबुक पेज पर भारत के खिलाफ कठोर टिप्पणियां दर्ज हैं। उसने भारत को बांग्लादेश का सबसे बड़ा शत्रु करार दिया है। बांग्लादेश में जनवरी 2०14 में चुनाव होने वाले हैं। जिया और शेख हसीना बारी-बारी से सत्ता में आती रही हैं। भारत चाहता है कि चाहे कोई भी पक्ष जीते  उसके साथ वह मैत्रीपूर्ण संबंध बनाए रखना चाहता है। लेकिन बीएनपी के सत्ता में रहने पर जो कुछ हुआ  वह सुखद नहीं है। बीएनपी और जमात की पिछली सरकार में ऐसे कप्तर संगठनों को पूरी छूट थी जो आईएसआई से कोष हासिल करते थे। भारत विरोधी कुछ आतंकवादी संगठनों ने भी बांग्लादेश में अपने आधार शिविर स्थापित कर लिए थे। इससे भारत चिंतित था। भारत ने जिया के साथ संबंध सुधारने की पहल की। बीएनपी प्रमुख की पिछले वर्ष भारत यात्रा के दौरान उन्होंने राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी और प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के साथ मुलाकात की थी। लेकिन मुखर्जी की मार्च में ढाका यात्रा के दौरान जिया ने भारतीय राष्ट्रपति से मुलाकात करने से इंकार कर दिया। उनकी पार्टी ने जमात के साथ मिलकर मुखर्जी की यात्रा के दौरान आम हड़ताल की थी।

Unique Visitors

13,481,375
नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया Dastak Times के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... A valid URL was not provided.

Related Articles

Back to top button