State News- राज्यTOP NEWSउत्तर प्रदेश

डीएम वाराणसी ने बच्चों की सुरक्षा व संरक्षण के लिए जिला बाल संरक्षण समिति के साथ की बैठक

वाराणसी। ऐसे बच्चे जिनके माता-पिता की कोविड से मौत हो चुकी है। उनके पालन पोषण के लिए प्रदेश सरकार संजीदा है। ऐसे बच्चों को मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना से जोड़कर उनको सुरक्षा और संरक्षण दिया जायेगा। इन बच्चों को इस योजना का लाभ दिलाने के लिए शुक्रवार को जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने अपने कैंप कार्यालय में जिला बाल संरक्षण समिति, जनपद स्तरीय टास्क फोर्स के साथ बैठक की। बैठक में जिला प्रोबेशन अधिकारी ने बताया कि उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना में उन्हीं बच्चों को सहायता दी जाएगी। जिनके माता पिता की मृत्यु का कारण कोविड 19 हो तथा इसका साक्ष्य अवश्य हो। इसके अतिरिक्त कुछ सूचना इस तरह की भी प्राप्त हुई है कि जिनमें माता या पिता अथवा दोनों की मृत्यु तो हुई है परन्तु उनके पास कोई साक्ष्य नहीं है।

इस पर जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि ऐसे बच्चे जो मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के तहत आते हैं उन्हें उसमें आच्छादित किया जाए। अन्य बच्चों को स्पॉन्सरशिप योजना से जोड़ा जाए। जिलाधिकारी ने कहा कि मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना से कोई प्रभावित बच्चा न छूटने पाये। बैठक में बताया गया कि अभी तक जनपद में कुल 80 बच्चे चिन्हित हुए हैं। जिसमें तीन बच्चे इस श्रेणी के पाए गए जिनके माता-पिता दोनों की मृत्यु हो गई है। बाकी अन्य 77 बच्चों में माता या पिता में से किसी एक की मृत्यु हुई है। बाल संरक्षण अधिकारी ने बताया कि कुल 193 बच्चे स्पॉन्सरशिप योजना के तरह चिन्हित किए गए हैं। जिनका प्रस्ताव अभी तक ग्राम तथा ब्लॉक स्तर से जिला बाल संरक्षण समिति को प्राप्त नहीं हुआ है।

जिलाधिकारी ने बैठक में ही सभी खंड विकास अधिकारी को निर्देशित किया कि तत्काल कार्यवाही करते हुए सूचना जिला स्तर पर उपलब्ध कराए। कहा कि ग्रामीण स्तर का फार्म ग्राम विकास अधिकारी, ग्राम पंचायत अधिकारी द्वारा भरवाकर खंड विकास अधिकारी सत्यापित करते हुए जिला प्रोबेशन अधिकारी को उपलब्ध कराये। शहरी क्षेत्र में लेखपाल के माध्यम से फार्म भरवाकर उप जिलाधिकारी सत्यापित कर उसे एक सप्ताह के अंदर जिला प्रोबेशन अधिकारी के कार्यालय में उपलब्ध कराये। बैठक में सभी उप जिलाधिकारी, जिला विद्यालय निरीक्षक, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी, जिला कार्यक्रम अधिकारी, प्रभारी विशेष किशोर पुलिस इकाई, सभी खंड विकास अधिकारी आदि सम्बंधित लोग मौजूद रहे।

-हेल्पलाइन नम्बर अंकित करने का निर्देश
सभी सरकारी प्राइवेट हॉस्पिटल में 1098 चाइल्ड लाइन, 181 हेल्पलाइन, जिला बाल संरक्षण इकाई से जिला प्रोबेशन अधिकारी प्रवीण त्रिपाठी 7518024048, बाल संरक्षण अधिकारी निरुपमा सिंह 8840830673 अंकित करने के लिए निर्देश दिया गया।

  1. देश दुनिया की ताजातरीन सच्ची और अच्छी खबरों को जानने के लिए बनें रहेंhttp://dastaktimes.org/ के साथ।
  2. फेसबुक पर फॉलों करने के लिए https://www.facebook.com/dastaklko
  3. ट्विटर पर पर फॉलों करने के लिए https://twitter.com/TimesDastak
  4. साथ ही देश और प्रदेश की बड़ी और चुनिंदा खबरों केन्यूजवीडियो’ आप देख सकते हैं।
  5. youtube चैनल के लिए https://www.youtube.com/channel/UCtbDhwp70VzIK0HKj7IUN9Q

Related Articles

Back to top button