International News - अन्तर्राष्ट्रीय

ताइवान की राष्ट्र‍पति ने बीजिंग की सत्ता को किया खारिज, कहा- एक देश में दो कानून नहीं चल सकते

ताइपे : विश्व स्वास्थ्य संगठन सभा की बैठक में ताइवान को आमंत्रित नहीं किए जाने के बाद ताइपे और बीजिंग के बीच विवाद गहरा गया है। ताइवान के राष्ट्रपति त्साई इंग-वेन ने बुधवार को कहा कि चीन की संप्रभुता के दावे पर कड़ी आपत्ति करते हैं। ताइवान ने कहा कि वह चीन के ‘एक देश, दो सिस्‍टम’ के स्वायत्तता के प्रस्ताव के तहत चीन का हिस्सा बनना स्वीकार नहीं करेगा।

इस बीच चीन ने ताइवान को बातचीत के लिए बुलाया है ताकि दोनों पक्ष सह-अस्तित्व में आ सकें। अपने दूसरे और अंतिम कार्यकाल के लिए शपथ लेने के बाद एक भाषण में त्साई ने कहा कि ताइवान और चीन के बीच संबंध एक ऐतिहासिक मोड़ पर पहुंच गए हैं।

उन्होंने कहा कि दोनों पक्षों का कर्तव्य है कि वे दीर्घावधि में सह-अस्तित्व का रास्ता खोजें और दुश्मनी और मतभेदों की तीव्रता को रोकें। गौरतलब है कि त्साई और उनकी डेमोक्रेटिक प्रोग्रेसिव पार्टी ने जनवरी में हुए राष्ट्रपति और संसदीय चुनावों में जीत हासिल की है। इस मौके पर उन्होंने कहा कि ताइवान, चीन के एक देश दो सिस्टम के सिद्धांत को अस्वीाकर करता है व उसकी निंदा करता है।

Related Articles

Back to top button