Crime News - अपराधNational News - राष्ट्रीयउत्तर प्रदेशफीचर्ड

‘निर्भया’ के अभिभावकों ने मुलायम के बयान की निंदा की

DL24G113001नई दिल्ली । दिल्ली में 16 दिसंबर को हुए निर्भया सामूहिक दुष्कर्म कांड की पीड़िता के पिता ने समाजवादी पार्टी (सपा) के मुखिया मुलायम सिंह यादव की टिप्पणी की निंदा की है और लोगों से अपील की है कि वे ऐसे नेताओं का चुनाव न करें जो महिलाओं की इज्जत नहीं करते।

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव ने गुरुवार को मुरादाबाद में आयोजित एक रैली को संबोधित करते हुए कहा था कि दुष्कर्म के मामले में मौत की सजा देना गलत है क्योंकि लड़कों से गलतियां हो जाती हैं।

महिला कार्यकर्ताओं ने भी मुलायम की इस बयान के लिए निंदा की है।

पीड़िता के पिता ने आईएएनएस को बताया ‘‘यादव अपनी सरकार में महिलाओं को सुरक्षा देने में नाकाम रहे। अगर उन्होंने महिलाओं को सुरक्षा देने के बारे में सोचा होता तो वह कभी इस तरह का बयान नहीं देते।’’

पीड़िता के पिता ने कहा ‘‘मुख्य बात यह है कि उनके मन में महिलाओं के लिए सम्मान नहीं है। मैं जनता से अपील करता हूं कि इस तरह के नेताओं का चुनाव न करें। खासतौर से मैं महिलाओं से अपील करता हूं कि वे ऐसे नेताओं को वोट न दें।’’

16 दिसंबर दुष्कर्म पीड़िता की मां ने भी मुलायम सिंह के बयान पर असंतोष जताया।

उन्होंने आईएएनएस को बताया ‘‘सत्ता में रहने के बावजूद यादव को इस तरह का बयान नहीं देना चाहिए…यह गलत है अगर वह इस तरह की बातें कह रहे हैं। ऐसे लोगों को सत्ता में रहने का कोई हक नहीं है।’’

गौरलतब है कि 16 दिसंबर को 23 वर्षीया युवती के साथ चलती बस में बेरहमी से दुष्कर्म हुआ था। बाद में पीड़िता की सिंगापुर के एक अस्पताल में मौत हो गई थी। युवती को सिंगापुर विशेष उपाचार के लिए ले जाया गया था।

दुष्कर्म करने वाले चार आरोपियों को मौत की सजा सुनाई गई थी एक आरोपी ने जेल में आत्महत्या कर ली थी और एक किशोर आरोपी को तीन साल की रिमांड ही मिली थी।

उधर देशभर में हुई आलोचना से घबराकर मुलायम शुक्रवार को अपने बयान से पलट गए। उन्होंने संभल में एक रैली को संबोधित करते हुए यह सफाई दी कि उनके बयान को गलत तरीके से पेश किया गया है। मेरा कहने का जो मतलब था उसका गलत आशय निकाला गया।

मुलायम की इस सफाई के बाद भी चुनाव आयोग ने मुलायम के भाषण की सीडी तलब की है। मुरादाबाद के डीएम संजय कुमार को आयोग के दफ्तर में सीडी मुहैया कराने का आदेश दिया है। इस मामले में मुलायम सिंह के पुत्र और सूबे के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने अब तक सपा प्रमुख के बयान पर कोई टिप्पणी नहीं की है।

दुष्कर्म को लेकर मुलायम के इस बयान के सामने आने पर कांग्रेस भाजपा और बसपा ने उनकी निंदा की। कांग्रेस उपाध्यक्ष सत्यदेव त्रिपाठी ने कहा कि मुलायम का यह बयान दुराग्रह से भरा है और अपराध को बढ़ावा देता है। बसपा के प्रदेश अध्यक्ष रामअचल राजभर ने मुलायम के इस बयान को घटिया और निंदनीय बताया है। उन्होंने कहा कि अदालत का निर्णय सम्मानीय है। नारी हमारे समाज में पूज्य मानी जाती है। मुलायम के इस बयान की जितनी भी निंदा की जाए वह कम है।

भाजपा प्रवक्ता विजय पाठक कहते हैं कि सपा को कानून तोड़ने वाले दुष्कर्म के आरोपित और संवैधानिक संस्थाओं का मखौल उड़ाने वाले भाते हैं। मुलायम का यह बयान ऐसे लोगों की पैरवी करने वाला है। समाज का हर वर्ग इस बयान को लेकर सपा प्रमुख की सोच पर सवाल खड़े कर रहा है।

Related Articles

Back to top button