National News - राष्ट्रीयफीचर्ड

नेताओं ने वाजपेयी को भारत रत्न देने का स्वागत किया

atalनई दिल्ली : राजनीतिक नेताओं ने पार्टी लाइन से ऊपर उठते हुए शनिवार को पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न से सम्मानित किये जाने का स्वागत किया और कहा कि एक अंतरराष्ट्रीय व्यक्तित्व, राजनेता और उत्कृष्ट वक्ता के लिए यह बिल्कुल सही सम्मान है। राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी द्वारा वाजपेयी को उनके आवास पर सम्मान प्रदान किये जाने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि अटलजी का जीवन देश को समर्पित था, उन्होंने प्रत्येक क्षण देश के लिए जिया और सोचा। भारत में मेरे जैसे करोड़ों कार्यकर्ता हैं जिसके जीवन में वाजपेयी जी एक प्रेरणा हैं। उन्होंने कार्यक्रम के बाद कहा कि आने वाली पीढियां उनसे प्रेरित होती रहेंगी। मैं ईश्वर से यही प्रार्थना करूंगा कि वाजपेयी जी का जीवन हमें हमेशा ही प्रेरित और निर्देशित करता रहे। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने शुक्रवार को पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को देश के शीर्ष नागरिक पुरस्कार भारत रत्न से सम्मानित किये जाने का स्वागत किया और कहा कि यह उनकी राजनीतिक कौशल, बुद्धिमत्ता और राष्ट्रीय हितों के प्रति उनकी गहरी प्रतिबद्धता को उचित मान्यता है।
देश का सर्वोच्च नागरिक सम्मान पाने पर वाजपेयी को लिखे पत्र में सोनिया गांधी ने कहा कि आपका व्यापक और विशाल हृदय वाला दृष्टिकोण, आपकी राष्ट्रभक्ति और प्रखर वक्ता के गुण ने पूरे राजनीतिक फलक और हमारे समाज के सभी वर्गों को हमेशा अंगीकार किया है। केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने वाजपेयी को एक अंतरराष्ट्रीय व्यक्तित्व बताया जिन्हें सभी सम्मान देते हैं और प्यार करते हैं। सिंह ने कहा कि हमारे पूर्व प्रधानमंत्री वाजपेयी ना केवल एक भारतीय राजनेता हैं बल्कि एक अंतरराष्ट्रीय व्यक्तित्व भी हैं जिनका सभी सम्मान और प्यार करते हैं। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री सर्वोत्कृष्ट नेता हैं जिन्होंने देश के लिए बिना थके काम किया। जेटली ने कहा कि यह देश और हम सभी के लिए एक गौरवपूर्ण क्षण है। वह देश के निष्ठावान व्यक्ति हैं। वह सर्वोत्कृष्ट नेता हैं जिन्होंने देश के लिए बिना थके काम किया। जेटली ने कहा कि मेरा मानना है कि इस देश में उनके जैसे बहुत थोड़े लोग होंगे जो अच्छे वक्ता, राजनेता, विचारक और कवि होंगे। हम उनके अच्छे स्वास्थ्य और लंबे जीवन की कामना करते हैं।
वाजपेयी के कैबिनेट में मंत्री रहे एवं जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने कहा कि उनके पिता फारूक अब्दुल्ला ने संप्रग सरकार को वाजपेयी को भारत रत्न से सम्मानित करने का सुझाव दिया था। उन्होंने कहा कि देर आये दुरूस्त आये। राजग ने यह किया और मैं वाजपेयी साहब को भारत रत्न से सम्मानित किये जाने वाले दिन उन्हें और उनके परिवार को दिल से बधाई देता हूं। उनके अधीन काम करना एक सम्मान की बात थी। जम्मू-कश्मीर के मुख्यमंत्री मुफ्ती मोहम्मद सईद ने वाजपेयी को देश के सबसे ऊंचे कद के दूरदर्शी राजनेताओं में से एक बताया। सईद भी वाजपेयी को भारत रत्न से सम्मानित किये जाने के समय उनके आवास पर मौजूद थे। उन्होंने कहा कि वाजपेयी को भारत रत्न से सम्मानित करना उनके शानदार राजनीतिक करियर का सही सम्मान है। उन्होंने वाजपेयी को स्वतंत्रता प्राप्ति के बाद देश के सबसे उत्कृष्ट प्रधानमंत्रियों में से एक बताया। उन्होंने कहा कि वाजपेयी देश को आम सहमति और मेलमिलाप से आगे ले जाने में विश्वास करते थे। सईद ने वाजपेयी के प्रधानमंत्रित्व कार्यकाल में उनके द्वारा राज्य में किये गए प्रयासों की प्रशंसा की और कहा कि वाजपेयी की जम्मू-कश्मीर में सभी हितधारकों को रचनात्मक और सार्थक बातचीत में शामिल करने के लिए उनके द्वारा किये गए ऐतिहासिक पहलों के लिए राज्य में प्रशंसा की जाती है। जदूय नेता शरद यादव ने उन्हें एक दिग्गज नेता बताया जिन्हें सभी पार्टियों का सद्भाव हासिल था।

Unique Visitors

11,174,580
नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया Dastak Times के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button