National News - राष्ट्रीयState News- राज्यफीचर्ड

पीएम मोदी ने कोविन कॉन्क्लेव को किया संबोधित, बोले कोरोना महामारी दुनिया के लिए चुनौती

नई दिल्ली: को-विन ग्लोबल कॉन्क्लेव को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने सोमवार को कहा कि कोरोना महामारी दुनिया के लिए चुनौती है. कोई भी देश महामारी से अकेले नहीं लड़ सकता है. उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी से सफलतापूर्वक लड़ने के लिए टीकाकरण मानवता के लिए सबसे अच्छी उम्मीद है और शुरुआत से ही, हमने भारत में अपनी टीकाकरण रणनीति की योजना बनाते समय पूरी तरह से डिजिटल दृष्टिकोण अपनाने का फैसला किया था.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि कोरोना के खिलाफ हमारी लड़ाई में टेक्नोलॉजी अहम है. सौभाग्य से, सॉफ्टवेयर एक ऐसा क्षेत्र है जिसमें संसाधनों की कोई कमी नहीं है. इसलिए हमने तकनीकी रूप से संभव होते ही अपने कोविड ट्रेसिंग और ट्रैकिंग ऐप को ओपन सोर्स बना दिया.

उन्होंने कहा, ”100 साल में ऐसी कोई महामारी नहीं आई. अनुभव से पता चलता है कि कोई भी राष्ट्र, चाहे वह राष्ट्र कितना भी शक्तिशाली क्यों न हो, इस तरह की चुनौती को अलग करके हल नहीं कर सकता.”

कॉन्क्लेव को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि भारतीय सभ्यता पूरे विश्व को एक परिवार मानती है. इस महामारी ने कई लोगों को इसका अहसास कराया है. इसलिए, कोविड टीकाकरण के लिए हमारा तकनीकी प्लेटफॉर्म, जिसे हम को-विन कहते हैं- को ओपन सोर्स बनाने के लिए तैयार किया जा रहा है.

इससे पहले, नेशनल हेल्थ अथॉरिटी के सीईओ डॉ. आरएस शर्मा ने हाल ही में बताया था कि कनाडा, मेक्सिको, नाइजीरिया, पनामास युगांडा समेत लगभग 50 देशों ने को-विन प्लेटफॉर्म के इस्तेमाल को लागू करने की दिलचस्पी दिखाई है. उन्होंने बताया था कि भारत इस ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर को मुफ्त में साझा करने के लिए तैयार है.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया Dastak Times के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...

Related Articles

Back to top button