National News - राष्ट्रीयफीचर्ड

प्रदूषण की समस्या से निपटने के लिए मुख्यमंत्री केजरीवाल भी करेंगे कार पूल

arvind-kejriwal_650x400_71449693307नई दिल्ली: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बुधवार को साफ तौर पर कहा कि 1 जनवरी से जब दिल्ली की हवा को साफ रखने के सम-विषम योजना पर अमल होगा तो वे भी अपने मंत्रियों के साथ कार पूल करेंगे।

एनडीटीवी की कंसल्टिंग एडिटर बरखा दत्त की किताब ‘द अन्क्वाइट लैंड’ के लॉन्च के मौके पर मुख्यमंत्री ने एनडीटीवी से बात करते हुए कहा कि शुरुआती दिनों में कार पूलिंग सबसे ‘व्यवहारिक’ विकल्प होगा। क्योंकि बस पकड़ना हमेशा आसान नहीं होगा।

मजाकिया लहजे में उन्होंने वहां मौजूद नेताओं से पूछ लिया कि जो नेता कार पूल करना चाहेंगे हाथ ऊपर उठाएं। केजरीवाल ने कहा, ‘मैं तो कार पूल करूंगा और मेरे मंत्री भी ऐसा ही करेंगे। जो मंत्री मेरे घर के पास रहते हैं, मैं उनके साथ कार पूल करूंगा।’

जानलेवा हो चुकी है दिल्ली की हवा
उन्होंने आगे कहा, ‘जिन लोगों ने शर्म के मारे अब तक हाथ नहीं उठाया है, मुझे उम्मीद है कि वे भी कार पूल करेंगे।’ दिल्ली में प्रदूषण का स्तर सारे रिकॉर्ड तोड़ रहा है और यहां की हवा जानलेवा होती जा रही है। इसी को देखते हुए सरकार ने सम-विषम फॉर्मूले पर विचार किया है। इससे सड़क पर उतरने वाली निजी गाड़ियों की संख्या करीब आधी रह जाएगी।

दिल्ली सरकार के इस फैसले का समर्थन करने वालों की कमी नहीं है, लेकिन इस फैसले की आलोचना भी खूब हो रही है। जहां एक ओर न्यायपालिका, सिविल सोसायटी और नेता इस फैसले का समर्थन कर रहे हैं तो दूसरी ओर फैसले की आलोचना करने वालों का कहना है कि इस फैसले के समर्थन के लिए दिल्ली में सार्वजनिक परिवहन की व्यवस्था अच्छी नहीं है।

कई लोग महिलाओं की सुरक्षा को लेकर भी सवाल उठा रहे हैं। इस बीच कोर्ट में एक केस भी दायर हो गया है, जिसमें कहा गया है कि ट्रकों के कारण काफी मात्रा में प्रदूषण फैलाया जा रहा है।

वैक्यूम क्लीनर से साफ होगी सड़कों की धूल-मिट्टी
मुख्यमंत्री केजरीवाल ने एनडीटीवी से बात करते हुए कहा, ‘हम ट्रकों की जांच करेंगे, खासतौर पर उन ट्रकों की जो ओवरलोड होंगे, क्योंकि वे ज्यादा प्रदूषण फैलाते हैं।’ उन्होंने कहा, ‘इसके अलावा सड़को को वैक्यूम क्लीनर से साफ किया जाएगा। सभी फुटबाथों को हरा-भरा बनाया जाएगा। बागवानी विभाग से कहा गया है कि हर तरफ पेड़-पौंधे लगाए जाएं, जिससे कम से कम धूल-मिट्टी हो।’

हालांकि इस योजना में अभी और सुधार होने हैं। इस योजना के तहत विषम नंबर की कारों को विषम तारीखों जैसे 1, 3, 5 और सम नंबर की कारों को 2, 4, 6 तारीखों को सड़क पर उतरने की इजाजत होगी। इससे पहले मुख्यमंत्री ने बुधवार को ये भी साफ कर दिया था कि कार चला रही अकेली महिला और बीमार व्यक्ति को ले जा रही कार को इस योजना में छूट मिलेगी।

केंद्र और दिल्ली पुलिस से मिलेगा सहयोग
मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने पहली जनवरी से शहर में निजी वाहनों के चलने के संबंध में दिल्ली सरकार की सम-विषय योजना के क्रियान्वयन में केंद्र और दिल्ली पुलिस के पूर्ण सहयोग का आश्वासन दिया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने 40 मिनट के अपने मुलाकात के दौरान राजनाथ सिंह को सभी प्रस्तावों से अवगत कराया और उनकी प्रतिक्रिया बहुत ही सकारात्मक थी।

Unique Visitors

9,438,115
नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया Dastak Times के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button