National News - राष्ट्रीयफीचर्ड

बड़ा खुलासा: ये शख्स बता पाएगा कि हनीप्रीत कहां है और कैसी है?

ना ही विपासन और ना ही दिलावर, बल्कि एक ये शख्स बता पाएगा की राम रहीम की ‘दुलारी’ हनीप्रीत इंसां आखिरकार कहां है और किस हालत में है।

बड़ा खुलासा: ये शख्स बता पाएगा कि हनीप्रीत कहां है और कैसी है?हनीप्रीत के ड्राइवर प्रदीप कुमार गिरफ्तार
दरअसल, राजस्थान में सालासर से 20 किमी आगे हनीप्रीत के ड्राइवर प्रदीप कुमार को गिरफ्तार किए जाने का दावा किया गया है। राजस्थान पु​लिस का दावा है कि प्रदीप की निशानदेही पर ही हनीप्रीत का सुराग मिलेगा। इससे पहले सोनीपत से राम रहीम के करीबी दिलावर इंसां को दबोचा गया। उससे भी हनीप्रीत का राज उगलवाने की कोशिश की जा रही है। वहीं विपासना इंसां से भी हनीप्रीत को लेकर पूछताछ की जाएगी।  

राम रहीम के डेरे में थीं विषकन्याएं, जो साध्वियों को बाबा के पास जाने को कर देती थीं मजबूर

रोहतक जेल से जाने के बाद हनीप्रीत का सुराग नहीं
दरअसल, 25 अगस्त को सीबीआई कोर्ट ने गुरमीत राम रहीम को साध्वी यौन उत्पीड़न मामले में दोषी करार दिया था। सुनवाई के दौरान डेरामुखी के साथ उसकी कथित बेटी हनीप्रीत भी थी। डेरामुखी को हेलीकाप्टर से रोहतक सुनारिया जेल लाया गया था। हनीप्रीत भी उसके साथ आई थी। डेरामुखी के जेल में जाने के बाद हनीप्रीत अपने तीन साथियों के साथ कार में बैठकर चली गई। इसके बाद से हनीप्रीत का कोई सुराग नहीं है।

आईपीएस अधिकारी ने डेरे में रहने का खुलासा किया

एक आईपीएस अधिकारी ने बताया कि हनीप्रीत अपने साथियों के साथ पहले रोहतक में करीब दो घंटे तक एक डेराप्रेमी के घर रुकी। इसके बाद वह सिरसा स्थित डेरे में पहुंची। डेरे में हनीप्रीत दो दिन तक रही। जब उसके खिलाफ पंचकूला में केस दर्ज कर लिया गया तो वह फरार हो गई। बता दें कि डेरा प्रमुख को दोषी करार देने के बाद गनमैन उसे कोर्ट से भगाकर ले जाना चाहते थे। इसकी साजिश हनीप्रीत ने रची थी। उसके खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी किया गया है।

बिना किसी रुकावीट के डेरे तक पहुंची हनीप्रीत
रोहतक से हिसार और सिरसा तक पुलिस और पैरा मिलिट्री के कड़े पहरे के बावजूद हनीप्रीत बेरोक-टोक सिरसा डेरे तक पहुंची। तब हनीप्रीत के खिलाफ कोई केस दर्ज नहीं किया गया था। इस कारण हनीप्रीत को रास्ते में पूछताछ के लिए रोका नहीं गया। हनीप्रीत के साथ रोहतक का एक डेराप्रेमी भी था। पुलिस उसकी रोहतक में तलाश कर रही थी, लेकिन वह सिरसा डेरे में था। दो दिन तक डेरे की गतिविधियां हनीप्रीत की देखरेख में हुईं। बताया जा रहा है कि इस बीच डेरे में सबूतों को नष्ट किया गया।

जेल से जाने के बाद आर्य नगर में डेराप्रेमी के घर रुकी ​थी

राम रहीम को रोहतक तक पहुंचाने के बाद हनीप्रीत गायब हो गई। डीजीपी ने बताया कि राम रहीम के जेल आने के बाद हनीप्रीत को जेल से वापस भेज दिया गया था। फिर चर्चा हुई थी कि जेल से आने के बाद हनीप्रीत आर्य नगर में एक डेरा प्रेमी के घर पर रुकी थी। हालांकि अधिकारिक तौर पर इसकी पुष्टि नहीं हो सकी है। पुलिस ने हनीप्रीत के मोबाइल की लोकेशन भी खंगाली है। उसके मोबाइल की अंतिम लोकेशन दिल्ली के नजफगढ़ में मिली है। इसके बाद से ही उसका मोबाइल नंबर बंद है।

रोहतक जेल से चार लोगों के साथ गई थी हनीप्रीत
डीजीपी ने बताया कि पंचकूला से गुरमीत के साथ रोहतक की सुनारिया जेल पहुंची हनीप्रीत 25 अगस्त को रात लगभग दस बजे जेल से तीन डेरा प्रेमियों रोहतक के साथ गई थी। रोहतक के आर्य नगर निवासी संजय चावला, हिसार निवासी वेद प्रकाश और झज्जर से जितेंद्र कुमार अपनी जिम्मेवारी पर उसे साथ ले गए थे। हनीप्रीत ने लिखित में जेल प्रशासन को दिया था कि मै हनीप्रीत इसां पुत्री गुरमीत राम रहीम सही सलामत हूं और विकास निवासी 3/783 फतेहाबाद के साथ जा रही हूं।

डेरा प्रेमी हनीप्रीत के बारे में नहीं बता पा रहे

डेरा प्रेमी संजय चावला, वेद प्रकाश और जितेंद्र ने भी उसी पत्र पर लिख कर दिया था कि हम उपरोक्त व्यक्ति बाबा राम रहीम की पुत्री हनीप्रीत इसां को अपने साथ सही सलामत अपनी जिम्मेवारी और हनीप्रीत की मर्जी से लेकर जा रहे हैं। उन्हें उनके घर पहुंचाने की जिम्मेवारी हमारी है। उसके बाद से हनीप्रीत कहां है, इसका भी कोई सुराग नहीं है। संजय चावला भी इस बारे में कुछ बता नहीं पा रहे हैं।

 

 

Unique Visitors

12,977,002
नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया Dastak Times के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...

Related Articles

Back to top button