National News - राष्ट्रीय

बड़ी खबर: पाकिस्तान बन गया पूरी तरह टेररिस्तान, यहीं से दुनियाभर में एक्सपोर्ट कर रहा आतंक

संयुक्त राष्ट्र में भारत ने एक बार फिर पाकिस्तान को लताड़ लगाई है। भारत ने कहा कि यह बहुत असामान्य बात है कि जिस देश ने ओसामा बिन लादेन को बचाया और मुल्ला उमर जैसे लोगों का ठिकाना बना हुआ है, वह शिकार होने का तर्क दे रहा है। 
भारत ने संयुक्त राष्ट्र में राइट टू रिप्लाई के अधिकार के तहत यह बातें कही। भारत ने कहा कि अपने संक्षिप्त इतिहास में, पाकिस्तान आतंकवाद का पर्याय बना हुआ है। साथ ही भारत ने यह भी कहा कि पाक (पवित्र) जमीन की तलाश में पाकिस्तान आतंकियों की पाक जमीन बन गया है।

भारत ने पाकिस्तान को टेररिस्तान करार दिया, जो आतंकियों को जन्म देता है और दुनियाभर में एक्सपोर्ट करता है। भारत ने कहा कि पाकिस्तान को यह मानना होगा की कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है। हालांकि पाकिस्तान सीमा पार से आतंकी भेजता रहा है, लेकिन वह कभी-भी भारत की क्षेत्रीय अखंडता को तोड़ नहीं सकता।

दुनियाभर में आतंकियों की सप्लाई करने वाला पाकिस्तान हमें मानवाधिकार पर लेक्चर देता है। दुनिया को उस देश से लोकतंत्र और मानवाधिकार का लेक्चर नहीं चाहिए, जो खुद अपने लोगों पर जुल्म करता हो।

टेररिस्तान एक ऐसी सीमा है, जिसने दुनियाभर के आतंकियों को एक किया। पाकिस्तान केवल ऐसी विनाशकारी सलाह दे सकता है, जिससे विश्व को दुख पहुंचेगा।

पाक ने फिर अलापा पुराना राग

गौरतलब है कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शाहिद खकान अब्बासी ने शुक्रवार को एक बार फिर कश्मीर पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद का घोषणापत्र लागू करने की मांग की है। उन्होंने कहा कि भारत संयुक्त राष्ट्र के प्रस्ताव को लागू करने से इनकार कर रहा है, जिसमें जनमत-संग्रह के जरिए कश्मीर समस्या के हल की बात कही गई है।

ये भी पढ़े: फेडरल रिजर्व के फैसले से अन्य प्रमुख मुद्राओं के मुकाबले अमेरिकी डॉलर में आयी ज्यादा मजबूती

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में पाक पीएम ने कहा कि ‘पाकिस्तान भारत के साथ कश्मीर समेत हर मुद्दे पर बातचीत को तैयार है। कश्मीर मुद्दे पर किसी विशेष दूत की नियुक्ति की जानी चाहिए।’

Unique Visitors

13,040,611
नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया Dastak Times के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...

Related Articles

Back to top button