International News - अन्तर्राष्ट्रीयफीचर्ड

मलेशिया : लापता विमान का सुराग नहीं, तलाशी अभियान तेज

mal9कुआलालंपुर। मलेशिया से बीजिंग के लिए उड़ान भरने वाले मलेशियाई एयरलाइंस के लापता विमान का तीसरे दिन सोमवार को भी कोई सुराग नहीं मिल पाया। इस बीच अंतर्राष्ट्रीय जांच दल ने अपना तलाशी अभियान तेज कर दिया है। उधर मलेशियाई अधिकारियों ने कहा कि जाली पासपोर्ट पर विमान में सवार होने वाले दो लोग दिखने से एशियाई नहीं प्रतीत होते। कार्यवाहक परिवहन मंत्री हिसामुद्दीन हुसैन ने संवाददाता सम्मेलन में कहा ‘‘अभी हमारा मुख्य जोर विमान की तलाशी पर है।’’ इस बीच अंतर्राष्ट्रीय टीम ने अपने तलाशी अभियान दायरा बढ़ाकर अंडमान समुद्र से लेकर थाईलैंड की खाड़ी और दक्षिण चीन सागर तक कर दिया है। हुसैन ने कहा कि व्यापक तलाशी अभियान में अमेरिका आस्ट्रेलिया न्यूजीलैंड का भी सहयोग मिल रहा है।
मलेशिया एयरलाइंस का विमान एमएच 37० जिसमें 239 लोग सवार थे शनिवार रात मलेशिया की राजधानी कुआलालंपुर से बीजिंग के लिए उड़ान भरी थी। लेकिन वियतनाम के हो ची मिन्ह हवाई क्षेत्र से गुजरते हुए उसका हवाई यातायात नियंत्रण कक्ष से संपर्क टूट गया जिसके बाद से विमान का कुछ पता नहीं चल पा रहा है। ऐसा माना जा रहा है कि विमान वियतनाम तट पर दक्षिण चीन सागर में दुर्घटनाग्रस्त हो गया होगा।
इससे पहले मलेशिया के नागरिक उड्डयन विभाग के महानिदेशक अजहरुद्दीन अब्दुल रहमान ने सोमवार को कहा कि समुद्र में खोज के दौरान कुछ मलबा मिला है लेकिन यह बीजिंग के लिए रवाना हुए मलेशिया एयरलाइंस विमान का है इसकी पुष्टि नहीं हुई है। रहमान ने संवाददाता सम्मेलन में कहा ‘‘खोजी दल को अब तक कोई ऐसी चीज नहीं मिली है जिससे कहा जा सके कि विमान समुद्र में डूबा है।’’ उन्होंने कहा कि इस समय विभिन्न देशों के 34 विमान और 4० जलयान बड़े दायरे में तलाश और बचाव कार्य में जुटे हुए हैं। विमान के तलाशी अभियान में चीन मलेशिया सिंगापुर इंडोनेशिया अमेरिका थाईलैंड आस्ट्रेलिया और फिलिपींस भागीदारी कर रहे हैं।
रहमान ने कहा कि वह हैरान हैं कि विमान के साथ ऐसा क्या हुआ कि वह गायब हो गया और कोई ठोस सबूत नहीं मिल रहा है जिसकी किसी निष्कर्ष पर पहुंचने के लिए सख्त जरूरत है। मलेशियाई अधिकारियों ने संदेह जताया है कि विमान को गायब करने में अंतर्राष्ट्रीय आतंकवादियों का हाथ हो सकता है। इसमें उन लोगों की संलिप्तता हो सकती है जिन्होंने लापता विमान में सवार कुछ यात्रियों के फर्जी और अवैध पासपोर्ट होने की खबर दी। ज्ञात हो कि दो यूरोपीय नागरिक जिनकी पहचान मलेशियाई विमान के फर्जी यात्रियों के रूप में की गई कथित रूप से उनके पासपोर्ट थाईलैंड में खो गए थे। कयास लगाया जा रहा है कि कुछ अन्य यात्रियों ने अवैध पासपोर्ट का इस्तेमाल किया होगा।
मलेशियाई एयरलाइंस के विमान ने शनिवार की रात 12.41 बजे कुलाआलंपुर से उड़ान भरी थी। उसे सुबह 6.3० बजे बीजिंग में उतरना था। विमान में चालक दल के 12 सदस्यों के साथ 14 देशों के 227 यात्री सवार थे। इनमें 154 चीनी नागरिक थे और भारत के पांच यात्री सहित मलेशिया के 38 लोग सवार थे।

जाली पासपोर्टधारक एशियाई नहीं :
मलेशिया के नागरिक उड्डयन विभाग के महानिदेशक अजहरुद्दीन अब्दुल रहमान ने संवाददाता सम्मेलन में पहले प्रकाशित एक रिपोर्ट को खारिज किया जिसमें कहा गया था कि विमान में जाली यूरोपीय पासपोर्ट के साथ सवार दोनों व्यक्ति देखने में एशियाई लगते हैं। महानिदेशक ने हालांकि यह नहीं बताया कि वे कैसे और किस स्थान के लग रहे हैं। स्थानीय मीडिया रिपोर्ट में सोमवार को कहा गया था कि दोनों जाली पासपोर्ट धारकों में से एक की पहचान कर ली गई है। समाचार पत्र मलेशियन स्टार की रिपोर्ट के मुताबिक कुआलालंपुर अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डे द्वारा उपलब्ध कराए गए सीसीटीवी फुटेज से व्यक्ति की पहचान हुई।

चीन मलेशिया वियतनाम ने की चर्चा :
कुआलालंपुर से बीजिंग के लिए 239 लोगों को लेकर उड़ान भरने वाले लापता मलेशियाई विमान के बारे में चीन मलेशिया और वियतनाम ने चर्चा की। विमान के लापता होने को 48 घंटे से अधिक बीत जाने के बाद भी इस बारे में कोई जानकारी नहीं मिल पाई है। चीन के विदेश मंत्री वांग यी ने मलेशिया से विमान की खोज का अभियान जारी रखने के लिए कहा है। वांग ने इस बारे में अपने मलेशियाई समकक्ष एनीफाह अमान से फोन पर बातचीत की। उन्होंने कहा कि खोज अभियान अधिक देर तक नहीं रोका जाना चाहिए क्योंकि उम्मीद की किरण बची है।
वहीं मलेशिया के विदेश मंत्री ने कहा कि उनका देश विमान को खोजने में कोई कसर नहीं छोड़ रहा और वह इस बारे में चीन से लगातार संपर्क में रहेगा।
वांग ने वियतनाम के उप प्रधानमंत्री एवं विदेश मंत्री फाम बिन्ह मिन्ह के साथ भी फोन पर लापता विमान के बारे में चर्चा की और उम्मीद जताई कि वियतनाम भी इस दिशा में हर संभव मदद करेगा।

Unique Visitors

13,065,980
नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया Dastak Times के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...

Related Articles

Back to top button