Lifestyle News - जीवनशैली

महिलाओं को नाक छिदवाना क्यूँ है अनिवार्य, इसके पीछे असली सच जानकर उड़ जायेंगे होश

आपने अक्सर पाने घर में या फिर अपने आस पास बहुत सी महिलाओं को नाक में नोज पिन पहनते हुए देखा होगा. अमूमन लोग यहीं मानते हैं की महिलाएं नाक में गहने इसलिए पहनती हैं की क्यूंकि ये बहुत पहले से ही बहर्तिया समाज का हिस्सा रहा है और आज महिलाओं में नोज पिन पहनना एक ट्रेंड बन चूका है. लेकिन आपको बता दें की असल में ऐसा नहीं है क्यूंकि ये कोई ट्रेंड नहीं बल्कि हमारे भारतीय समाज में महिलाओं का नोज पिन पहनना एक प्रकार का अनिवार्य कार्य है जो की हर महिला के लिए जरूरी समझा जाता है. आज हम आपको महिलाओं के नाक छिदवाने के पीछे की असली वजह के बारे में बताने जा रहे हैं जिसे जानने के बाद आप भी ये समझ जाएंगे की वास्तव में हिन्दुस्तानी महिलाओं का नाक छिदवाना कोई ट्रेंड नहीं बल्कि रिवाज है.

सबसे पहले आपको बता दें की दुनिया भर के तमाम देशों से सबसे ज्यादा गहनों का शौख भारतीय महिलाओं में ही देखा गया है. इंडिया में आपको महिलाओं के लिए तमाम तरह के आभूषण देखने को मिल जाएंगे जिनमे से बहुत से ऐसे गहने हैं जो की महिलाओं को पहनना अनिवार्य माना जाता है जैसे की नाक में पहने जाने वाला नोज पिन, पायल, मंगलसूत्र, चूड़ा और इअरिंग आदि. बता दें की इनमे से कुछ गहने ऐसे हैं जिसे शादी शुदा महिलाओं को पहनना बेहद आवश्यक माना जाता है. आपको जानकर हैरानी होगी की असल में हमारे देश में नाक चिद्वाने की प्रथा 16 वीं सदी में पूर्वी देशो से अपनाई गयी थी और इसके काफी सारे फायदे भी बताये गये हैं. बता दें की पुराने जमाने में महिलाओं का नाक छिदवाना इसलिए बेहद आवश्यक माना जाता था क्यूंकि ऐसा माना जाता था की नाक छिदवाने से महिलाओं में मासिक धर्म के दौरान होने वाली दर्द से भी काफी हद टक राहत मिलती है और इसके साथ ही साथ शारीर वापिसे होरमोन को भी कण्ट्रोल करती है जो की बॉडी में किसी प्रकार का दर्द उत्पन्न करते हैं. विशेषयगों की माने तो महिलाओं में नाक छिदवाने बिल्कुल वैसे ही काम करता है जैसे की बॉडी से दर्द दूर करने के लिए चाइना में एक्युप्रेसर का इस्तेमाल किया जाता है.

आपको बता दें की भारत के बहुत से पौराणिक वेदों और किताबों में ऐसा लिखा गया है की महिलाओं को नाक जरूर छिदवाना चहिये क्यूंकि इससे उनके माशिक धर्म के दौरान होने वाला दर्द तो कम होता ही है साथ ही साथ प्रेग्नेंट महिलाओं को प्रेगनेंसी के दौरान भी काफी राहत मिलती है. इतना ही नहीं बल्कि नाक छिदवाने का एक फायदा ये भी है की ये माईग्रेन जैसे दर्द से भी जल्द राहत देता है. इसके आलवा आपको बता दें की नाक कोई भी कभी भी छिदवा सकता है इससे ना तो कोई साइड इफ़ेक्ट होता है और ना ही कोई अन्य प्रकार के सेप्टिक का होने का डर रहता है. यहाँ तक की कोई महिला अपनी प्रेगनेंसी के दौरान भी नाक छिदवा सकती है बस ध्यान रखने वाली बात ये है की आप जिस जिस नाक छिदवा रहे हों उसका साफ़ होना जरूरी है वर्ना इन्फेक्शन होने का खतरा रहता है.

Unique Visitors

13,456,622
नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया Dastak Times के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... A valid URL was not provided.

Related Articles

Back to top button