अद्धयात्मज्योतिष

मासिक राशिफल अप्रैल 2020: इस महीने क्या कहते हैं आपके सितारे, जानिए !

मेष-
इस महीने आर्थिक पक्ष सामान्य रहेगा। अचानक से होने वाले व्यय आपके कष्ट बढ़ा सकते हैं। इस अवधि में आप अपने लक्ष्यों का विस्तार कर सकते है। समय आपके अनुकुल है। मास आरम्भ में विचार गये कार्य पूर्ण होंगे। कार्यों मे कुशल नितियों की भूमिका विशेष रहेगी। उद्देश्य प्राप्ति के लिये सकारात्मक भाव बनाएं रखें। इस समय में आपकी जिम्मेदारियां बढ़ेंगी और काम का बोझ भी बढ़ेगा। आपके सहकर्मी और वरिष्ठ आपकी प्रतिभा को पहचानेंगे और इससे आप सर्वश्रेष्ठ प्रयास करने को प्रेरित होंगे। मास के आरंभ में आपके आत्मविश्वास में थोड़ी कमी आयेगी। व्यय बढ़ेंगे। अपनी बुद्धिमता से परिवार की सुख-शांति को बनाए रखें। संतान की सफलता से आपके उत्साह में वृद्धि होगी। मास के अंत में संतान प्राप्ति संबंधित मनोकामना पूरी हो सकती है। जहां तक प्रेम से जुड़े मामलों का सवाल है तो इस माह के शुरुआत में ही आपके नए प्रेम संबन्ध बनने के योग बन रहे है। परन्तु इन संबन्धों की आयु अधिक लम्बे समय की नहीं है। मास मध्य भाग में समय आपका सहयोग करेगा। इस अवधि में दांपत्य जीवन में स्नेह बढ़ाने के अवसर प्राप्त होंगे। हालांकि यह स्थिति अल्पकालीन है दांम्पत्य जीवन में बनी तनाव की स्थिति को आप अधिक गंभीरता से न लें, अन्यथा आपके स्वास्थ्य में कमी हो सकती है। इसके मध्य अवधि में आपको जल से होने वाले रोग प्रभावित कर सकते है। इस अवधि में आपके पिता को स्वास्थ्य का ध्यान रखना चाहिए। इस मास के शुरू में व्यावसायिक कार्यो में आपको अपने प्रयासों को बढ़ाने कि आवश्यकता रहेगी। इस अवधि में निर्णयों को अधिक समझ-बूझ से लेना उचित रहेगा। अधिनस्थ इस समय में आपको कम सहयोग देंगे। इसके विपरीत अधिकारियों के मार्गदर्शन से आपके रुके हुए कार्य भी पूर्ण होंगे।

वृष-
इस समय में परिवार तथा परिवार के बड़ों का साथ आपके साथ बना रहेगा। इसके फलस्वरुप आपके रुके हुए कार्य बनेंगे। भाग्य की शुभता कुछ देर से ही सही पर आपको प्राप्त होगी। पारिवारिक खर्चों पर नियन्त्रण लगाने का प्रयास करें। दांपत्य जीवन के अलावा अन्य परिवारिक क्षेत्र मास मध्य तक अनुकुल रहेंगे। इस अवधि में अपनी भाग-दौड में कमी कर शरीर को पूर्ण आराम देना उचित रहेगा। अधिक से अधिक धन प्राप्ति की इच्छा से आपके सेहत में कमी हो सकती है। इस समय में रोगों से लड़ने की शक्ति अधिक होने से आप शीघ्र स्वास्थ्य लाभ प्राप्त करेगें। मास के अन्त में सेहत आपके अनुकूल हो सकता है, बशर्ते की इस समय में भोजन में नियमितता बनाये रखें। तथा अत्यधिक भोजन करने से बचें। छोटी- छोटी बातों के लिये स्वयं अपना इलाज करना सही नही रहेगा। संतान के स्वभाव में आ रहा बदलाव आपको मास अन्त में परेशान कर सकता है। मास के इस भाग में मित्र समय पर काम नहीं आएंगे। दांम्पत्य जीवन में भी कुछ मनमुटाव की स्थिति बन सकती है। आप चाहें तो इस समय में अपने साथी को इस समय में अपना जीवन साथी बना सकते है। समय की शुभता आपका सहयोग करेगी। मास अन्त में व्यावसायिक क्षेत्र में कुछ नये मित्र बन सकते है। यहां बने नये रिश्तों से आपको सुख-सहयोग की प्राप्ति होगीl घर के बडों का आशिर्वाद भी आपको प्राप्त होगा।

मिथुन-
इस अवधि में वरिष्ठ जनों की सलाह से काम करना उचित रहेगा। संचय को लेकर आपकी चिन्ताएं बनी रहेगी। व्ययों पर नियन्त्रण में कमी आपके लाभों को प्रभावित कर सकती है। इसके मध्य भाग में अपने शत्रुओं पर अपना प्रभाव बनाये रखें। माह के अंतिम दिनों में अचानक से परिस्थितियां बदल सकती है। इसलिये इसके अंतिम माह में मशवरों पर स्वयं विचार करने के बाद इन्हें प्रयोग में लाना आपके लिये उचित रहेगा। वहीं आर्थिक क्षेत्रों में बहुत ज्यादा अनुकूल परिणाम प्राप्त नहीं होंगे। इस मास का मध्य भाग परिवार में वृद्धि की संभावनाएं दे रहा है। संतान प्राप्ति की कामनाएं इस समय में पूरी हो सकती है। मास मध्य में अपनी संतान पर अपना विश्वास भाव बनाए रखें, यह अविश्वास की स्थिति आपके व संतान के मध्य दूरियां बना सकती है। जीवनसाथी के लिये वस्तुओं का क्रय करने से अपने साथी की नाराजगी दूर करने की कोशिश कर सकते है। माह के मध्य में समाज में मान- सम्मान प्राप्त होने के योग बन रहे है। आपकी व्यस्तता बढेगी। प्यार और रिश्तों के लिहाज से यह समय उतम है। इस अवधि में सारी चिन्ताएं छोड, खुशी के पलों को महसूस करे। इस मास आपके कष्ट परिवार व माता के स्वास्थय की कमी के कारण बढ सकते है। आरम्भिक भाग में नेत्र संबन्धी रोगों का ध्यान रखना हितकारी रहेगा। इसके मध्य भाग की अवधि में आपका स्वास्थ्य अनुकूल हो जायेगा। परन्तु माता को स्वास्थ्य सुख प्राप्ति में समय लग सकता है।

कर्क-
इस समय में स्वयं में जोश, उत्साह के भाव में कमी न आने दें। इस मास आपको जोखिम पूर्ण कार्यो को करने में संकोच हो सकता है। परन्तु साहस को बनाये रखने से आपके लिए सफलता के मार्ग खुलेंगे। इसके मध्य की अवधि में नौकरी में बदलाव के उतम योग बने हुए हैं। इस संबन्ध में प्रयास करने से अवश्य सफलता प्राप्त होगी। इसके अतिरिक्त इस समय में आपमें आत्मविश्वास का भाव भी कम रहेगा। अधीनस्थों को महत्वपूर्ण कार्य भी सौपें जा सकते हैं। इस मास में आपकी आर्थिक क्षेत्र में पराक्रम भाव को बनाये रखने से लाभ प्राप्त होगा। यात्राओं की अधिकता से आपकी व्यस्तता बढ़ सकती है। इस अवधि में मेहनत करने के बाद भी लाभों को लेकर संशय भाव में हो सकते हैं। इस अवधि में दिया हुआ धन वापस मिलने की संभावनाएं बन रही है। मास मध्य में आत्मविश्वास में कमी न होने दे, अन्यथा आपके लाभ प्रभावित हो सकते हैं। मास अंत आपकी भाग-दौड़ बढ़ने पर आप पहले से अधिक व्यस्त रह सकते है। परिवारिक सुख-समृद्धि में वृद्धि होगी। आपकी संतान स्वभाव वश शीघ्र क्रोध करती है। इसलिये स्थिति को नियन्त्रित करने के लिये आप स्वयं क्रोध न करें। इस मास में प्रेम संबन्धों के फलस्वरुप आपकी चिन्तांओं में बढ़ोतरी हो सकती है। इसके मध्य भाग में आप दोनों मिलकर संबन्धों को सुधारने कि कोशिश कर सकते है। माह के आरम्भ की अवधि में आपके स्वभाव में कुछ शक का भाव अधिक हो सकता है। संतान पर कम विश्वास करेगें। क्रोध-चिड़चिड़ाहट की स्थिति संतान के कारण आ सकती है।

सिंह-
आर्थिक स्थिति के पक्ष से आपके लिये मास पूर्वार्ध से ही उतम रहेगा। इस अवधि की आर्थिक स्थिति आपके पुरुषार्थ से जुडी हुई है। इस अवधि में आपके प्रबन्ध विषयों पर व्यय बढेगें। पर अधिनस्थों पर होने वाले व्ययों पर आप नियन्त्रण रखने का प्रयास करेंगे। इस अवधि में आप प्रशासनिक नितियों का निर्माण कार्य करने में सफलता प्राप्त होगी। इस मास के आरम्भ से ही आय प्राप्ति के प्रबल योग बने हुए है। व्यावसायिक क्षेत्र में आपको विशिष्ठ जनों का ज्ञान व अनुभव का पूरा सहयोग प्राप्त होगा। परन्तु जोखिम लेने से बचें। मध्य अवधि में आप अपने लाभों को लेकर शंका युक्त हो सकते है। इस अवधि में अधिनस्थों का सहयोग पाने के लिये आपको वाणी में मिठास का भाव रखना होगा। माह के अंत में स्थानान्तरण के योग बन रहे है। इस मास वैवाहिक जीवन में सुख भाव की कुछ कमी हो सकती है। इस अवधि में जीवनसाथी के वाणी में व्यंग्य का भाव होने के कारण आपस में नाराजगी का माहौल हो सकता है। इस मास में आपके प्रेम संबन्ध मध्यम स्तर के रहेगें। इस अवधि में आपके कारण प्रेम संबन्धों में स्नेह-सहयोग की कमी हो सकती है। स्वास्थ्य के लिहाज से इस मासकी प्रथम मास में स्वास्थ्य सुख की वृ्द्धि होगी मानसिक सुख में कमी हो सकती है। परन्तु शारीरिक सुख बना रहेगा। व्ययों की अधिकता आपकी चिन्ताओं को बढायेगी।

कन्या-
इस माह में आप व्यावसायिक संपत्ति क्रय- विक्रय करने का विचार बना सकते है। आमदनी को बढाने के लिये आप योजनाओं का कार्य समय पर पूरा करने का प्रयास करें। विदेश से जुडी योजनाओं का विस्तार कार्य किया जा सकता है। परन्तु योजनाओं में लोच का भाव बनाये रखें। इससे कार्य निर्बाध गति से पूरा हो सकेगा। इसके मध्य अवधि में आप अपने आर्थिक लाभों का प्रयोग व्यावसायिक क्षेत्र की सुख -सुविधाओं की वृ्द्धि के लिये प्रयोग कर सकते है। व्यावसायिक क्षेत्र में बदलाव की स्थिति बनी हुई है। इस अवधि में आपके विश्वसनीय अधीनस्थ आपको छोड कर जा सकते है। जाँब परिवर्तन के लिये समय अनुकुल है। मास के मध्य भाग में आप निर्णयों में दुविधा कि स्थिति रहने कि संभावना बन रही है। इस अवधि में कार्यो में सोच-विचार अधिक रहेगा। अधिकारियों के सामने अपनी योग्यता सिद्ध करने में आपको समय लग सकता है। मास मध्य समय में आपको वरिष्ठ लोगों का विश्वास और सम्मान प्राप्त होगा। मास अंत में पद वृ्द्धि के योग बन रहे है। मध्य की अवधि में दांम्पत्य जीवन की स्थिति तनावयुक्त् हो सकती है। स्थिति को सुधारने के लिये आप अपनी ओर से प्रयास कर सकते है। इसके लिये आप अपने पहले से अधिक समय अपने साथी को देने का प्रयस करेगें। मास मध्य में दांपत्य जीवन की परेशानियों में कमी होगी। परिवार के बडों के सहयोग से वापस आप दोनों के संबन्ध मधुर हो सकते है। प्रेम संबन्धों के पक्ष से यह मास सामान्यत: अनुकुल रहेगा । इस अवधि में इससे संम्बन्धित व्यय बढने के साथ साथ एक दुसरे को समझने के अवसर भी आप दोनों को प्राप्त होगें। इस मास में आप दूसरों पर शीघ्र विश्वास करने से डरेगें। इस अवधि में आपके स्वभाव में क्रोध व उतेजना की स्थिति हो सकती है।

तुला-
इस महीने बडी योजनाओं को शुरु करने में बाधाएं आ सकती है। मध्य समय में साहसिक व जोखिम से पूर्ण क्षेत्रों में धन का विनियोजन करने से बचे़ अन्यथा धन हानि का सामना करना पड सकता है। मास के अंत समय में आपके द्वारा की गई कोई दूर की यात्रा भी इस लिहाज से फायदेमंद होगी। इस अवधि के शुभ फल पाने के लिये आप सकारात्मक भाव बनाये रखे। तथा खुद पर विश्वास रख आगे बढते रहें। बौद्धिक कार्यो में बाधाएं आने की संभावनाएं बन रही है। इस मास आजीविका कार्यो में बाधाएं आ सकती है। इस अवधि में सहयोगियों का सहयोग प्राप्त नहीं हो पायेगा। प्रतियोगियों के कारण परेशानियां बढ सकती है। मास के अंत में आप के अधिकारों में बढोतरी होगी। इस अवधि में आप बेवजह व्यावसायिक स्थल में वाद-विवाद से स्वयं को दूर रखना उचित रहेगा। इस मास दांपत्य जीवन को सुखमय बनाये रखने का आप अपनी ओर से पूरा प्रयास करेगे। फिर भी मास के मध्य भाग में आप अपने जीवन साथी को समझाने के स्थान पर उसकी भावनाओं, विचारों को समझने का प्रयास करके देखें। इस अवधि का काफी समय आप विपरीत लिंग के साथ व्यतीत करेगें। मास मध्य में आप यात्राओं व मित्रों के साथ भ्रमण में आनन्द का अनुभुव करेगें। अपनी रुचि व शौक पूरे करने के समय की शुभता बनी हुई है। मास की अंतिम अवधि में मित्रों के भरोसे कोई कार्य छोडना उचित नहीं रहेगा। इस समय में आप संतुलित भोजन करें आपके लिये उचित रहेगा। मास की मध्य अवधि में पिता के स्वास्थ्य को लेकर आप परेशान हो सकते है।

Unique Visitors

11,303,716
नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया Dastak Times के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...

Related Articles

Back to top button