Lucknow News लखनऊउत्तर प्रदेश

मोदी के निशाने पर होगा बुंदेलखंड का पिछड़ापन

0लखनऊ /झांसी (एजेंसी)। उत्तर प्रदेश में बुंदेलखंड क्षेत्र के झांसी जिले में 25 अक्टूबर को होने जा रही भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी की रैली से पूरे बुंदेलखंड में उथल-पुथल मची हुई है। रैली के दौरान जहां मोदी के निशाने पर इलाके का पिछड़ापन होगा, वहीं बदलते राजनीतिक समीकरणों पर भी पार्टी की पैनी नजर है।
वर्ष 2012 में उप्र में हुए विधानसभा चुनाव के लगभग 17 महीने बाद अब बुंदेलखंड के सात जिलों के राजनीतिक समीकरणों में तेजी से बदलाव देखने को मिला है। इस बीच समाजवादी पार्टी (सपा) द्वारा जहां अपने उम्मीदवारों के टिकट काटे जाने से परिस्थतियां बदली हैं, वहीं बसपा नेताओं द्वारा मोदी का गुणगान किए जाने के बाद भाजपा के लिए अनुकूल स्थितियां बन रही हैं। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मीकांत वाजपेयी ने कहा, ‘नि:संदेह परिस्थतियां विधानसभा चुनाव से अलग हैं। लोकसभा चुनाव में परिणाम बेहतर आएगा। हम बुंदेलखंड क्षेत्र की चारों लोकसभा सीटों पर फतह हासिल करेंगे।’ वाजपेयी ने कहा कि एक बात जरूर है कि हम अति आत्मविश्वास से पूरी तरह से बचना चाहेंगे। फिलहाल ध्यान रैली पर है  जो ऐतिहासिक होने जा रही है।
बुंदेलखंड क्षेत्र में बांदा  हमीरपुर  झांसी  जालौन  ललितपुर  चित्रकूट और महोबा जिले हैं। बुंदेलखंड के सात जिलों में कुल चार लोकसभा सीटें बांदा  झांसी-ललितपुर  जालौन और हमीरपुर हैं। राजनीतिक लिहाज से भाजपा का प्रदर्शन इन क्षेत्रों में दोयम दर्जे का ही रहा है। विधानसभा में जहां केवल तीन सीटों पर ही भाजपा का कब्जा है  वहीं चार लोकसभा सीटों में एक भी सीट भाजपा के खाते में नहीं है। बांदा लोकसभा सीट से सांसद आर.के. पटेल जहां पिछला चुनाव सपा से जीते थे  अब सपा छोड़ बसपा के पाले में चले गए हैं। जालौन में भी समीकरण बदल चुके हैं।
सांसद घनश्याम अनुरागी का टिकट काटकर सपा ने दयाशंकर वर्मा को अपना उम्मीदवार घोषित किया है। हमीरपुर लोकसभा सीट से सांसद रहे विजय बहादुर सिंह को नरेंद्र मोदी की तारीफ  करने की वजह से ही बसपा बाहर का रास्ता दिखा चुकी है। भाजपा सूत्रों की मानें तो आने वाले दिनों वह भाजपा का दामन पकड़ सकते हैं।
झांसी-ललितपुर लोकसभा सीट से कांग्रेस के सांसद प्रदीप जैन आदित्य हैं  जो वर्तमान केंद्र सरकार में मंत्री भी हैं।
लोकसभा के अलावा बुंदेलखंड में केवल तीन विधानसभा सीटें ही भाजपा के पास हैं। चरखारी विधानसभा क्षेत्र से जहां भाजपा उपाध्यक्ष उमा भारती विधायक हैं, वहीं झांसी से रवि शर्मा और हमीरपुर से साध्वी निरंजन ज्योति विधायक हैं। भाजपा की चुनौती मोदी की रैली के बहाने ही बुंदेलखंड के लोगों के भीतर भाजपा के प्रति विश्वास भरना है। राजनीति समीकरणों के अलावा बुंदेलखंड के पिछड़ेपन का मुद्दा  सूखे और बाढ़ से हुई तबाही  कई जिलों में हो रहे अवैध खनन के मुद्दे पर भी मोदी केंद्र और राज्य सरकार पर हल्ला बोलते नजर आएंगे।

Related Articles

Back to top button