BREAKING NEWSNational News - राष्ट्रीयTOP NEWSफीचर्ड

राफेल और एस-400 डील से वायु रक्षा क्षमता को मिलेगी ताकत : वायुसेना प्रमुख

नई दिल्ली : विपक्ष की तरफ से राफेल डील पर उठाए जा रहे सवालों के बीच वायुसेना प्रमुख बीएस धनोआ ने इसे एक बेहतर विमान सौदा करार दिया है। एयर चीफ मार्शल धनोआ ने कहा कि सरकार ने 36 राफेल लड़ाकू विमान खरीद कर बड़ा फैसला लिया है। उन्होंने कहा कि शत्रु के खिलाफ वायुसेना को उच्च गुणवत्ता वाले और उच्च प्रौद्योगिकी वाले विमान दिए जा रहे हैं।

धनोआ ने आगे कहा कि हमने गतिरोध के बाद ये फैसला लिया था। हमारे पास तीन विकल्प थे। पहले कि हम अभी कुछ और इंतजार करते, राफेल लड़ाकू विमान को वापस करते या फिर आपातकालीन खरीद करते। और हमने आपातकालीन खरीददारी की। दोनों ही राफेल और एस-400 वायुसेना की मारक क्षमता को धार देने के लिए एक बेहतर सौदा है। वायुसेना प्रमुख ने कहा कि पहले से ही एचएएल के साथ हुए करार में डिलिवरी को लेकर काफी देरी हो रही है। सुखोई-30 की डिलिवरी तीन साल की देरी, जगुआर की डिलिवरी में 6 साल देरी, लाइट कम्बैट एयरक्राफ्ट की डिलिवरी में 5 साल की देरी और मिराज 2000 अपग्रेड की डिलिवरी में 2 साल की देरी है। नई दिल्ली में संवाददाताओं को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि स्क्वाड्रोन्स का कमजोर होते जाना यह चिंता का विषय है। यह सौदा अच्छा पैकेज है और विमान उपमहाद्वीप के लिए महत्वपूर्ण साबित होगा। दसॉल्ट एविएशन ने ऑफसेट साझेदार को चुना और सरकार तथा भारतीय वायुसेना की इसमें कोई भूमिका नहीं थी। उन्होंने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि राफेल एक अच्छा लड़ाकू विमान है। यह उपमहाद्वीप के लिये काफी महत्वपूर्ण साबित होगा। वायु सेना प्रमुख ने कहा, हमें अच्छा पैकेज मिला, हमें राफेल सौदे में कई फायदे मिले। कांग्रेस के नेतृत्व में विपक्ष सरकार पर राफेल सौदे में अनिल अंबानी की रिलायंस डिफेंस लिमिटेड को फायदा पहुंचाने का आरोप लगा रहा है। भाजपा ने इन सभी आरोपों को झूठा बताया है। राफेल विवाद में दिलचस्प मोड़ पिछले महीने तब आया जब फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद के हवाले से कहा गया कि फ्रांस को दसॉल्ट के वास्ते भारतीय साझेदार चुनने के लिए कोई विकल्प नहीं दिया गया था। भारत सरकार ने फ्रेंच एयरोस्पेस कंपनी के लिए ऑफसेट साझेदार के रूप में रिलायंस के नाम का प्रस्ताव रखा था। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 10 अप्रैल 2015 को पेरिस में ओलांद के साथ बातचीत के बाद 36 राफेल लड़ाकू विमान खरीदने की घोषणा की थी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया Dastak Times के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...

Related Articles

Back to top button