National News - राष्ट्रीयPolitical News - राजनीतिफीचर्ड

राबड़ी के हाथ में ‘लालटेन’ लालू बनें राजेडी अध्यक्ष

lalu2पटना (एजेंसी), चारा घोटाले में लालू प्रसाद यादव के जेल जाने के बाद राष्ट्रीय जनता दल की कमान उनकी पत्नी राबड़ी देवी को सौंपी गई है राबड़ी देवी की अध्यक्षता में रविवार को पटना में हुई पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की बैठक में यह फैसला किया गया। गौरतलब है कि राबड़ी ने दूसरी बार पार्टी की कमान संभाली है। 1997 में लालू प्रसाद यादव ने चारा घोटाले में जेल जाने से पहले मुख्यमंत्री पद से इस्ती़फा देकर राबड़ी देवी को मुख्यमंत्री बनवा दिया था। लालू के जेल जाने के बाद इस बात को लेकर कयास लगाए जा रहे थे कि पार्टी क्या इस बार भी परिवारवाद के रास्ते पर चलेगी या फिर रघुवंश प्रसाद जैसे वरिष्ठ नेता को पार्टी की कमान सौंपी जाएगी। रविवार को यह सस्पेंस खत्म हो गया। पार्टी की आगे की रणनीति तय करने के लिए बुलाई गई इस बैठक में पार्टी की कमान राबड़ी देवी के हाथों में ही देने का फैसला किया गया। राबड़ी देवी ने हालांकि इसके संकेत पहले ही दे दिए थे। उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा था कि लालू प्रसाद यादव की गैरमौजूदगी में पार्टी को वह और उनके बेटे तेजस्वी व तेज प्रताप चलाएंगे। इससे पार्टी के कुछ सीनियर नेता नाराजगी थी। चारा घोटाले में जेल में बंद लालू यादव की पत्नी राबड़ी के घर बुलाई गई इस बैठक में पार्टी के सभी बड़े नेता शामिल हुए। लालू के जेल जाने के बाद ये आरजेडी की पहली बैठक थी। इस बैठक में राबड़ी देवी पार्टी की आगे की रणनीति पर चर्चा की गई। पार्टी की बैठक के बाद पूर्व मुख्ममंत्री राबड़ी देवी ने प्रेस काँप्रेंस में कहा कि लगातार ये बाते की जा रहीं है कि आरजेडी लालू यादव के जेल जाने के बाद टूट जाएगी, लेकिन ऐसा नहीं है। बल्कि पार्टी और अधिक मजबूत होगी। हम पार्टी के संदेश को गांव-गांव तक पहुंचाएंगे। लालू यादव के घर पर हुई पार्टी की बैठक में फैसला लिया गया कि लालू यादव पार्टी के अध्यक्ष बने रहेंगे। लेकिन जब तक लालू यादव जेल में रहेंगे तब तक राबड़ी देवी पार्टी को संभालेंगी। और पार्टी का संदेश गांव-गांव तक पहुंचाएंगी। गौरतलब है कि चारा घोटाले में लालू को पांच साल की सजा हुई है वो फिलहाल बिरसा मुंडा जेल में बंद हैं।  

Unique Visitors

13,481,292
नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया Dastak Times के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...

Related Articles

Back to top button