National News - राष्ट्रीयState News- राज्यफीचर्ड

साधारण परिवार से प्रधानमंत्री की कुर्सी तक पहुचे थे चन्द्रशेखर

mulayam_2लखनऊ : समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव ने कहा है कि देश के सामने बड़ी चुनौती है। केन्द्र की भाजपा सरकार मनमानी कर रही हैं। अब अगली लड़ाई भाजपा और समाजवादी पार्टी के बीच होनी है। कोई तीसरी ताकत बीच में नहीं हैं। उन्होने कहा कि उत्तर प्रदेश जैसी कोई अन्य राज्य सरकार जनहित के काम नहीं कर रही है। इसे लोगों को जानना भी चाहिए। किसान, गांव-गरीब सब सोचें तो कि कार्यकर्ताओं ने अच्छा काम किया है। मुलायम सिंह यादव पार्टी मुख्यालय, लखनऊ में चन्द्रशेखर स्मारक ट्रस्ट, आजमगढ़ की ओर से उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा पूर्व प्रधानमंत्री की जयंती पर सार्वजनिक अवकाश की घोषणा किए जाने पर आयोजित धन्यवाद सभा को सम्बोधित कर रहे थे। सभा की अध्यक्षता पूर्व सासद भगवती सिंह ने तथा संचालन यशवंत सिंह, एमएलसी ने किया। इस अवसर पर वरिष्ठ पत्रकार धीरेन्द्र श्रीवास्तव द्वारा सम्पादित पुस्तक “राष्ट्र पुरूश चन्द्रशेखर“ का भी श्री यादव ने विमोचन किया। मुलायम सिंह यादव ने चन्द्रशेखर के चित्र पर माल्यार्पण के पश्चात अपने सम्बोधन के दौरान चन्द्रशेखर के साथ अपने कई संस्मरण भी सुनाए। उन्होने कहा कि चन्द्रशेखर साधारण परिवार से देश के सर्वोच्च पद प्रधानमंत्री पद की कुर्सी तक पहुचे थे। वे अपनी पार्टी के तब अकेले नेता थे। वे बड़े नेता थे। अपने विरोधी की भी मदद करते थे। उन्होने कहा उत्तर प्रदेश से यों तो कई प्रधानमंत्री बने किन्तु उत्तर प्रदेश के विकास में चैधरी चरण सिंह और चन्द्रशेखर ने ही दिलचस्पी ली। यादव ने चन्द्रशेखर की सादगी का जिक्र करते हुए कहा कि धोती कुर्ता ही उनकी वेशभूषा थी। वे प्रधानमंत्री की तरह बार-बार कपड़े नहीं बदलते थे। उन्होने कहा नई पीढ़ी को चन्द्रशेखर की सादगी और ईमानदारी का अनुसरण करना चाहिए।
लोक निर्माण, सिंचाई और राजस्वमंत्री शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि चन्द्रशेखर में एक साथ बहुत गुण थे। वे बड़े नेता थे, लेखक थे। समाज सुधारक थे और संघर्ष करने की भी उनमें बड़ी क्षमता थी। वे कभी झुके नहीं। कोई भी पद से नहीं अपने काम से बड़ा होता है। उन्होने कहा समाजवादी आंदोलन के बिना देश तरक्की नहीं कर सकता है। धन्यवाद सभा में वक्ताओं ने मुलायम सिंह यादव और मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के प्रति चन्द्रशेखर के जन्मदिन पर सार्वजनिक अवकाश घोषित करने पर आभार व्यक्त किया। वक्ताओं ने कहा कि चन्द्रशेखर का 40 वर्शो तक राजनीति में सशक्त हस्तक्षेप रहा। वे समाजवादी आंदोलन से गहरे जुड़े रहे। कांग्रेस में रहते हुए भी आपातकाल का विरोध किया और जेल गए। वे कहते थे गरीबों की पीड़ा को महसूस करो।
चन्द्रशेखर की जयंती पर सर्वश्री अहमद हसन, रघुराज प्रताप सिंह, डा0 मधु गुप्ता, ओमप्रकाश सिंह, अम्बिका चैधरी, अरिदमन सिंह, रामगोविन्द चैधरी, नारद राय, नीरज शेखर, अरविन्द सिंह गोप, एस0आर0एस0 यादव, योगेश प्रताप सिंह, राज किशोर सिंह, राम आसरे विश्वकर्मा, डा0 अशोक बाजपेयी, अर्चना राठौर, मयंकेश्वर शरण सिंह, शंखलाल मांझी, प्रदीप तिवारी, बृजेश यादव, गीता सिंह, डा0 राजपाल कश्यप, कुलदीप सिंह सेंगर, सरोजनी अग्रवाल, जावेद आब्दी, मूलचन्द्र चैहान, सुनील यादव आदि ने उन्हें अपने श्रद्धासुमन अर्पित किए।

Unique Visitors

11,414,721
नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया Dastak Times के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button