BREAKING NEWSNational News - राष्ट्रीयPolitical News - राजनीतिTOP NEWSफीचर्ड

सीमा पर हर चुनौती का मुंहतोड़ जवाब देने में सक्षम हैं हमारे जवान : राजनाथ सिंह

नई दिल्ली : चीन को स्पष्ट संदेश देते हुए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सोमवार को कहा कि देश गलवन के शहीदों की कुर्बानी को हमेशा याद रखेगा। अपने लद्दाख दौरे के दूसरे दिन रक्षामंत्री ने चीन को कड़ा संदेश देते हुए कहा कि भारतीय सशस्त्र बल हर चुनौती का मुंहतोड़ जवाब देने में सक्षम है। रक्षा मंत्री ने यहां बीआरओ (सीमा सड़क संगठन) द्वारा निर्मित 63 बुनियादी ढांचा परियोजनाओं का भी उद्घाटन किया। इस यात्रा का मकसद चीन के साथ लम्बे समय से चले आ रहे सीमा विवाद के बीच क्षेत्र में भारत की सैन्य तैयारियों का जायजा लेना है।

पड़ोसी देशों के साथ बातचीत के जरिए मुद्दों का समाधान निकालने का प्रयास किया जाना चाहिए, लेकिन साथ ही यह भी कहा कि अगर कोई इसे धमकी देने की कोशिश करता है तो भारत इसे बर्दाश्त नहीं करेगा। रक्षा मंत्री ने कहा कि लद्दाख को केंद्र शासित प्रदेश बनाए जाने के बाद आतंकवाद की घटनाओं में कमी आई है। यहां निवेश लाने और बुनियादी ढांचे में सुधार के लिए केंद्र द्वारा कई कदम उठाए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चाहते हैं कि जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में राजनीतिक प्रक्रिया शुरू हो। प्रधानमंत्री पहले ही जम्मू-कश्मीर के राजनीतिक दलों से बात कर चुके हैं। वह जल्द ही लद्दाख के लोगों से भी बात करेंगे।

रविवार को लेह में रक्षा मंत्री ने लेह, कारगिल और लद्दाख स्वायत्त पहाड़ी विकास परिषद के निर्वाचित वरिष्ठ प्रतिनिधियों से बातचीत की। रक्षा मंत्री के साथ सेना प्रमुख जनरल एम एम नरवणे भी थे और इस दौरान सिंह ने सशस्त्र बलों के पूर्व जवानों से भी मुलाकात की और उनके कल्याण तथा राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़े मुद्दों पर चर्चा की। उन्होंने लद्दाख के उपराज्यपाल आर के माथुर से भी बातचीत की।

रक्षा मंत्री जमीनी हकीकत का जायजा लेने के लिए अधिक ऊंचाई वाले अड्डों पर और अनेक अहम स्थानों पर जाएंगे और वास्तविक नियंत्रण रेखा की रक्षा कर रहे सुरक्षा बलों का मनोबल बढ़ाएंगे। उनका इस संवेदनशील इलाके में दौरा ऐसे वक्त में हो रहा है जब लंबे समय से चले आ रहे सैन्य गतिरोध को दूर करने के लिए दो दिन पहले ही भारत और चीन के बीच नए दौर की बातचीत हुई है।

 

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया Dastak Times के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...

Related Articles

Back to top button