State News- राज्यउत्तराखंड

हो रही थी गेहूं की कटाई, मिले एक लाख रुपये, हुए सारे बेकार…

गेहूं की कटाई के दौरान ग्रामीण तब भौंचक रह गए, जब खेत में एक हजार के पुराने नोट पॉलीथिन में मिले। करीब एक लाख के नोटों की कतरन बनाई हुई थी। ये सूचना वाइरल होते ही वहां भीड़ लग गई।

हल्द्वानी: हरिपुर जमन सिंह ग्राम पंचायत में गेंहू कटान के दौरान चलन से बाहर हो चुके एक हजार रुपये के पुराने नोटों की कतरन देख ग्रामीण हैरान हो गए। सभी कटे नोट पॉलिथीन बैग में रखे थे। कुछ ही देर में मामला वाट्सएप पर वायरल हुआ तो खेत में ग्रामीणों का जमावड़ा लग गया। नोट करीब एक लाख से अधिक मूल्य के है।

अभी-अभी: अखिलेश मायावती के साथ गठबंधन करने को तैयार, दिया ये बड़ा बयान…

CM योगी ने ‌न‌िभाया वादा: यूपी को 24 घंटे, बीपीएल पर‌िवारों को मुफ्त म‌िलेगी ब‌िजली

हरिपुर जमनसिंह ग्राम पंचायत के चांदनी चौक गरवाल गांव में नंदन सिंह नैनवाल की पत्नी इंदिरा, बेटी नेहा, भाभी जया और मंजू नयाल आदि संबंधी खेत में गेंहू की फसल काट रहे थे। इसी बीच खेत में पड़े एक पॉलीथिन बैग से दराती टकराई। पॉलीथिन फटते ही भीतर से एक-एक हजार के नोट निकल आए। पुराने नोट देखकर कुछ देर तो महिलाएं अवाक रह गई। इसके बाद परिजनों को जानकारी दी। आसपास के जिस ग्रामीण को घटना का पता चला, वह विस्मय, उत्सुकता और कौतुहल के चलते मौके पर जा पहुंचा। देखते ही देखते नोट मिलने का मामला वाट्सएप, फेसबुक आदि सोशल साइटों में वायरल हो गया।

बेटे अखिलेश से नाराज मुलायम सिंह जल्द बनाएंगे नई पार्टी

सूचना पर टीपीनगर चौकी प्रभारी हरेंद्र सिंह नेगी और एसआइ कठैत ने खेत स्वामी और परिजनों से मालूमात की। खेत स्वामी नैनवाल ने बताया कि दिसंबर और फरवरी माह में खेत की सिंचाई की थी। संभवतया इसी बीच नोटों से भरा पॉलीथिन बैग गूल से बहकर खेत में आया होगा। सभी नोट कैंची से कई हिस्सों में काटे गए थे। सीरियल नंबरों पर भी कैंची चलाई गई थी। इसके बाद पुलिस नोट के टुकड़ों को एकत्र कर पॉलीबैग में भरकर ले गई। अभी तक मामले में कार्रवाई को लेकर पुलिस असमंजस में है और बैंक अधिकारियों से राय ली जा रही है।

Unique Visitors

13,456,635
नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया Dastak Times के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... A valid URL was not provided.

Related Articles

Back to top button