TOP NEWSस्पोर्ट्स

300वां, 400वां टेस्ट जीते थे अब 500वें की बारी है, क्योंकि कुंबले हैं ना…

kohli_shastri-21-09-2016-1474447233_storyimageटीम इंडिया के लिए कानपुर में शुरू होने वाला टेस्ट मैच कई मायनों में खास होगा। ग्रीनपार्क स्टेडियम में खेला जाने वाला यह टेस्ट मैच भारतीय क्रिकेट इतिहास का 500वां टेस्ट होगा। 300वां और 400वां टेस्ट मैच टीम इंडिया ने जीता था ऐसे में उम्मीद की जा रही है कि 500वां भी जीतकर टीम इंडिया एक खास हैट्रिक लगाएगी। इसके अलावा एक और खास बात यह है कि 300वें, 400वें टेस्ट में अनिल कुंबले ने खास भूमिका निभाई थी और इस बार भी वो टीम इंडिया से जुड़े हुए हैं।

100वां और 200वां टेस्ट नहीं रहा था ‘खास’
भारत को अपने 100वें टेस्ट में हार मिली थी जबकि 200वां टेस्ट ड्रॉ पर खत्म हुआ था। 1967 में टीम इंडिया ने अपना 100वां टेस्ट खेला था। 100 में से भारत ने 10 ही टेस्ट मैच जीते थे। 100वें टेस्ट में उसे इंग्लैंड के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा था। इसके बाद 1982-83 में लाहौर में पाकिस्तान और भारत के बीच जो टेस्ट खेला गया वो भारत का 200वां टेस्ट मैच था। यह सीरीज टीम इंडिया के लिए बहुत खराब रही थी और उसे 0-3 गंवा दिया था।

300वें टेस्ट था ‘यादगार’, कुंबले और श्रीनाथ रहे थे ‘हीरो’
1996 में अहमदाबाद में भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच हुआ टेस्ट मैच भारत का 300वां टेस्ट था। 20 नवंबर को शुरू हुआ टेस्ट मैच टीम इंडिया के लिए बहुत यादगार था। भारत ने इस मैच दक्षिण अफ्रीका को 64 रनों से हराया था। भारत की जीत में तेज गेंदबाज जवागल श्रीनाथ और स्पिनर अनिल कुंबले ने अहम भूमिका निभाई थी। श्रीनाथ ने इस मैच में आठ और कुंबले ने पांच विकेट लिए थे। 170 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी दक्षिण अफ्रीकी टीम को श्रीनाथ और कुंबले ने मिलकर 105 रनों पर ढेर कर दिया था।

400वें टेस्ट में भारी पड़ा था कुंबले का ‘छक्का’
30 जून से जमैका में भारत और वेस्टइंडीज के बीच टेस्ट मैच शुरू हुआ और यह भारत का 400वां टेस्ट मैच था। सबीना पार्क में हुए इस मैच में कुंबले का दूसरी पारी का ‘छक्का’ वेस्टइंडीज क्रिकेट टीम पर भारी पड़ा था। चार टेस्ट मैचों की सीरीज का यह चौथा मैच था। पहले तीन ड्रॉ पर खत्म हुए और चौथा भारत ने जीत 35 साल का लंबा इंतजार खत्म किया। 35 सालों में यह वेस्टइंडीज में भारत की पहली सीरीज जीत भी थी। भारत की पहली पारी 200 रनों पर सिमट गई, जवाब में वेस्टइंडीज ने पहली पारी में महज 103 रन बनाए। हरभजन सिंह ने पांच और कुंबले ने एक विकेट लिया। भारत की दूसरी पारी 171 रनों पर सिमटी और वेस्टइंडीज को 269 रनों का लक्ष्य मिला। दूसरी पारी में कुंबले ने छह विकेट झटके और टीम इंडिया की जीत सुनिश्चित की।

तो क्या एकबार फिर कुंबले साबित होंगे ‘लकी’
भारत का 500वां टेस्ट मैच है और अनिल कुंबले एकबार फिर टीम के साथ जुड़े हुए हैं। इस बार हालांकि वो मैदान पर खेल नहीं रहे होंगे लेकिन हेड कोच के तौर पर टीम इंडिया की रणनीति जरूर बनाएंगे। अब देखना होगा कि क्या कुंबले 500वें टेस्ट में टीम इंडिया के लिए लकी साबित होते हैं या नहीं।

 
 
 
नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया Dastak Times के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...

Related Articles

Back to top button