National News - राष्ट्रीयफीचर्ड

b’day spcl. लोकसभा की पहली महिला स्पीकर मीरा कुमार का जन्मदिवस आज

लोकसभा की पहली महिला स्पीकर और राष्ट्रीय कांग्रेस के प्रमुख नेताओं में शुमार मीरा कुमार का आज जन्मदिन है. मीरा कुमार का जन्म अराह जिले, बिहार में पूर्व उप प्रधान मंत्री और प्रमुख दलित नेता जगजीवन राम और स्वतंत्रता सेनानी इंद्राणी देवी के घर 31 मार्च 1945 को हुआ था. उन्होंने जयपुर में वेलहम गर्ल्स स्कूल, देहरादून और महारानी गायत्री देवी गर्ल्स पब्लिक स्कूल में पढ़ाई की. उन्होंने थोड़े समय के लिए बनस्थली विद्यापाठ में भी अध्ययन किया. मीरा कुमारी ने अपनी एम.ए. और एल.एल.बी. इंद्रप्रस्थ कॉलेज और मिरांडा हाउस, दिल्ली विश्वविद्यालय में उन्होंने 2010 में बनस्थली विद्यापाठ से मानद डॉक्टरेट की उपाधि प्राप्त की.b'day spcl. लोकसभा की पहली महिला स्पीकर मीरा कुमार का जन्मदिवस आज

श्रीमति मीरा कुमारी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के प्रमुख नेताओं में से हैं. वे पंद्रहवीं लोकसभा में बिहार के सासाराम लोकसभा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करती हैं. वह लोकसभा की पहली महिला स्पीकर के रूप में 3 जून 2009 को निर्विरोध चुनी गयी.

वे पूर्व उप प्रधानमंत्री श्री जगजीवन राम की सुपुत्री हैं. मीरा कुमारी 1973 में भारतीय विदेश सेवा में शामिल हुई, वे कई देशों में नियुक्त रहीं और बेहतर प्रशासक साबित हुई. राजनीति में उनका प्रवेश अस्सी के दशक में हुआ था. 1985  में वे पहली बार बिजनौर से सांसद चुन कर आई, 1990 में वे कांग्रेस पार्टी की कार्यकारिणी समिति की सदस्य और अखिल भारतीय कांग्रेस समिति की महासचिव भी चुनी गई. 1996 में वे दूसरी बार सांसद बनीं और तीसरी पारी उन्होंने 1998 में शुरु की, 2004 में बिहार के सासाराम से लोक सभा सीट जीती. 2004 में यूनाईटेड प्रोग्रेसिव अलायन्स सरकार में उन्हें सामाजिक न्याय मंत्रालय में मंत्री बनाया गया. इस बार वे पाँचवीं बार संसद के लिए चुनी गई हैं. मीरा कुमार भारत की पहली महिला लोकसभा स्पीकर हैं. जीएमएसी बालयोगी के बाद वे दूसरी दलित नेता है जो इस पद तक पहुंचे.

वह लोकसभा की पहली महिला अध्यक्ष के रूप में निर्विरोध निर्वाचित हुई . 15 वीं लोकसभा के सदस्य होने के पहले, वह पहले 8 वीं, 11 वीं, 12 वीं और 14 वीं लोकसभा में भी शामिल थी. उन्होंने मनमोहन सिंह की कांग्रेस नेतृत्व वाली सरकार (2004- 200 9) के सामाजिक न्याय और सशक्तिकरण मंत्रालय में कैबिनेट मंत्री के रूप में सेवा की. मीरा कुमार 2017 के राष्ट्रपति चुनाव के लिए प्रमुख विपक्षी दलों द्वारा संयुक्त राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार थी.  और एनडीए के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद के चुनाव हार गई. लेकिन हारने वाले उम्मीदवार (3,67,314 मतदाता वोटों) से सर्वाधिक वोट प्राप्त करने के लिए एक रिकॉर्ड बनाया. वह एक वकील और पूर्व राजनयिक भी हैं.

Related Articles

Back to top button