उत्तराखंड

सीडीओ मनीष कुमार ने विभिन्न योजनाओं को लेकर ली बैठक, अधिकारियों को दिए आवश्यक दिशा निर्देश

टिहरी : जिलाधिकारी टिहरी गढ़वाल के दिशा-निर्देशन में आज विकास भवन सभागार, टिहरी गढ़वाल में मुख्य विकास अधिकारी टिहरी गढ़वाल मनीष कुमार की अध्यक्षता में जिला सेक्टर/राज्य सेक्टर/ केन्द्रपोषित/वाह्य सहायतित योजनाओं, बीस सूत्री कार्यक्रम, टास्क फोर्स सत्यापन एवं एस.डी.जी. टास्क फोर्स की बैठक आयोजित की गई। जिला सेक्टर/राज्य सेक्टर/केन्द्रपोषित एवं वाह्य सहायतित योजनाओ की समीक्षा करते हुए मुख्य विकास अधिकारी ने जिला योजना में कम प्रगति वाले विभागों को निर्देशित किया कि कार्यो में तेजी लाते हुए एक सप्ताह के अन्दर आंवटित धनराशि के सापेक्ष 70 प्रतिशत धनराशि व्यय करना सुनिश्चित करें। वहीं वन विभाग, संस्कृति, भेषज, खादी एवं ग्राम्योद्योग आदि जिन विभागों को 15 प्रतिशत की धनराशि आंवटित की जानी है, उन्हें प्रस्ताव भेजने के निर्देश दिये गये। मुख्य विकास अधिकारी द्वारा विभागों से प्राप्त आंकड़ों को अपडेट न करने पर जिला अर्थ एवं संख्या विभाग के अधिकारियों के प्रति नाराजगी व्यक्त करते हुए भविष्य में सही आंकड़े प्रस्तुत करने के निर्देश दिये गये।

बैठक में 17 सतत् विकास लक्ष्यों(एसडीजी) टास्क फोर्स के तहत जनपद स्तरीय एस.डी.जी. टास्क फोर्स के प्रभावी नियोजन, क्रियान्वयन एवं अनुश्रवण को लेकर चर्चा की गई। जनपद स्तर पर गरीबी को समाप्त करने, ग्रह की रक्षा करने और वर्ष 2030 तक सभी की शांति और समृद्धि को सुनिश्चित करने हेतु मुख्य विकास अधिकारी ने एसडीजी के तहत नामित सभी नोडल एवं सहायक नोडल अधिकारियों को लक्ष्यों एवं दायित्वों की पूर्ति हेतु आवश्यक कार्यवाही करते हुए नियमित रूप से अवगत कराने के निर्देश दिये गये। मुख्य विकास अधिकारी ने कहा कि सतत् विकास लक्ष्यों(एसडीजी) के तहत सभी विभागों को एक टीम के साथ काम करना होगा, तभी लक्ष्यों को शतप्रतिशत हांसिल किया जा सकता है। उनके द्वारा सभी नोडल एवं सहायक अधिकारियों को एसडीजी के लक्ष्यों की प्राप्ति हेतु प्रभावी कार्यवाही करने, समय-समय पर समीक्षा बैठक करने के साथ ही अगली बैठक में रेटिंग सही करने के निर्देश दिये गये। जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी को एसडीजी के नोडल एवं सहायक नोडल अधिकारियों की सूची संबंधितों को उपलब्ध कराने के निर्देश दिये गये।

बीस सूत्री कार्यक्रम एवं टास्क फोर्स सत्यापन की समीक्षा करते हुए मुख्य विकास अधिकारी द्वारा बीस सूत्री कार्यक्रम के तहत ‘बी‘ श्रेणी वाले विभागों को कार्यों में प्रगति लाते हुए ‘ए‘ श्रेणी प्राप्त करने तथा टास्क फोर्स सत्यापन के तहत शतप्रतिशत से कम प्रगति वाले विभागों को कार्यो में प्रगति लाते हुए शतप्रतिशत लक्ष्य हांसिल करने के निर्देश दिये गये। बीस सूत्री कार्यक्रम के तहत खाद्य विभाग, मातृ वन्दना योजना एवं पीएमजीएसवाई ‘बी‘ श्रेणी में हैं। खाद्य विभाग के अधिकारी द्वारा अवगत कराया गया कि 30 नवम्बर, 2022 तक खाद्यान्न का उठान कर लिया जायेगा। पंचायत राज विभाग के अधिकारी ने बताया कि जीपीडीपी के तहत बैठकें आयोजित की जा रही हैं। उनके द्वारा सभी संबंधित विभागों से जीपीडीपी की बैठकों में उपस्थित रहने की अपेक्षा की गई, ताकि योजना को सफल बनाया जा सके। उन्होंने बताया कि शीघ्र ही जीपीडीपी के तहत जिला स्तर, ब्लॉक स्तर एवं न्याय पंचायत स्तर पर प्रशिक्षण भी दिया जायेगा।

बैठक में पीडी डीआरडीए प्रकाश रावत, डीडीओ सुनील कुमार, सीएमओ डॉ. संजय जैन, डीएसटीओ साक्षी शर्मा, जिला सेवायोजन अधिकारी विनायक श्रीवास्तव, जीएम डीआईसी महेश प्रकाश, एएमए जिला पंचायत संजय खण्डूरी, डीटीडीओ अतुल भण्डारी, सहासिक खेल अधिकारी के.एस.नेगी, जिला समाज कल्याण अधिकारी के.एस. चौहान सहित अन्य जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे।

Unique Visitors

13,770,958
नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया Dastak Times के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...

Related Articles

Back to top button