State News- राज्यउत्तराखंड

हल्द्वानी पर CM धामी का बड़ा ऐलान बोले -जहां था अवैध मदरसा वहां बनेगा अब थाना

हल्द्वानी : हल्द्वानी में हिंसा की वजह बने अवैध मदरसे की जगह अब पुलिस थाना बनेगा। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सोमवार को यह ऐलान किया। धामी ने यह भी कहा कि देवभूमि की शांति से खिलवाड़ करने वालों को छोड़ा नहीं जाएगा। हल्द्वानी में अवैध मदरसा और कथित मस्जिद को गिराए जाने की वजह से भड़की हिंसा में 5 लोगों की मौत हो गई तो 300 से ज्यादा घायल हो गए।

पुष्कर सिंह धामी ने ने एक वीडियो ट्वीट करते हुए इसकी जानकारी दी। उन्होंने सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म एक्स पर लिखा, ‘बनभूलपुरा, हल्द्वानी में जिस जगह से अवैध अतिक्रमण हटाया गया वहां पर अब पुलिस थाने का निर्माण किया जाएगा। उपद्रवियों और दंगाइयों के लिए हमारी सरकार का यह स्पष्ट संदेश है कि देवभूमि की शांति से खिलवाड़ करने वाले किसी भी व्यक्ति को छोड़ा नहीं जाएगा, ऐसे उपद्रियों के लिए उत्तराखंड में कोई स्थान नहीं है।’

उत्तराखंड के हल्द्वानी शहर के कर्फ्यू ग्रस्त बनभूलपुरा क्षेत्र में स्थिति सामान्य है जहां कानून-व्यवस्था को कायम रखने के लिए अर्धसैनिक बलों की अतिरिक्त कंपनियां तैनात कर दी गयी हैं। नैनीताल के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक प्रहलाद मीणा ने बताया कि बनभूलपुरा में केंद्रीय अर्धसैनिक बलों की अतिरिक्त कंपनियां भी संवेदनशील स्थानों पर तैनात की गयी हैं।

उन्होंने बताया कि बनभूलपुरा में आश्यक वस्तुओं की आपूर्ति की जा रही है और लोगों को जल्द ही और सुविधाएं भी उपलब्ध कराई जाएंगी। बनभूलपुरा क्षेत्र को छोड़कर शेष हल्द्वानी में कर्फ्यू हटाए जाने के बाद प्रशासन ने आवश्यक सेवाओं को सुचारु कर दिया है। बनभूलपुरा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र को शुरू करने के साथ ही मेडिकल स्टोर भी खुलवा दिए गए तथा गैस सिलेंडरों की आपूर्ति भी की जा रही है।

कुमांउ मंडल विकास निगम के महाप्रबंधक एपी वाजपेई ने बताया कि कर्फ्यू ग्रस्त क्षेत्र के किदवई नगर, इंदिरा नगर, नई बस्ती आदि इलाकों में गैस सिलेंडरों का वितरण करवाया जा रहा है। इसके साथ ही प्रशासन की ओर से सब्जी, दूध तथा अन्य जरूरी सामान वेंडरों के माध्यम से पहुंचाया जा रहा है।

इस बीच, केंद्रीय अर्धसैनिक बलों की अतिरिक्त कंपनियां भी संवेदनशील स्थानों पर तैनात की गयी हैं। इससे पहले इलाके में करीब 1000 जवान पहले से तैनात थे। आठ फरवरी को अवैध मदरसा और नमाज स्थल के ध्वस्तीकरण के दौरान हिंसा भड़काने के आरोप में पुलिस अब तक 30 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है जबकि अन्य की गिरफ्तारी के लिए अलग-अलग इलाकों में दबिश दी जा रही है।

हरिद्वार के ऋषिकुल मैदान में आयोजित ‘नारी शक्ति महोत्सव’ को संबोधित करते हुए उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा यह जो बनभूलपुरा है, एक बगीचे में अतिक्रमण था। उस अतिक्रमण में कई एकड़ भूमि निकली है। वह भूमि जहां पर आगजनी हुई है, जहां पथराव हुआ है। जहां उपद्रव किया गया है। जहां पुलिसकर्मियों के साथ कानून को तोड़ा गया। पत्रकार भाइयों को भी आग में झोंकने का काम किया। मैं मां गंगा के पवित्र तट से घोषणा करता हूं कि उस स्थान पर पुलिस का थाना बनाया जाएगा।’

गौरतलब है कि हल्द्वानी के बनभूलपुरा में मलिक के बगीचे में नजूल भूमि पर अवैध मदरसा और कथित धार्मिक स्थल बना हुआ था। प्रशासन ने पिछले दिनों इन्हें सील करने के बाद 8 फरवरी को बुलडोजर से ध्वस्त कर दिया था। कोर्ट के आदेश के बाद नगर निगम की ओर से की गई कार्रवाई के बाद हिंसा भड़क गई थी। भीड़ ने पुलिस और प्रशासन की टीमों को जमकर निशाना बनाया। जमकर पथराव और आगजनी की गई। हिंसा में पांच लोगों की मौत हो गई। राज्य सरकार ने उपद्रवियों के खिलाफ सख्त ऐक्शन का आदेश दिया है। उपद्रवियों की पहचान करके उन्हें गिरफ्तार किया जा रहा है।

Related Articles

Back to top button