Lifestyle News - जीवनशैली

रोजाना खाएं गुलकंद, पास नहीं आएंगी यह बीमारियां

गुलाब के फूल से तैयार गुलकंद खाने में स्वादिष्ट होने के साथ सेहत के लिए फायदेमंद होता है। गुलकंद एक ऐसा खाद्य पदार्थ है जो हम अपने घर पर भी तैयार कर सकते हैं। गुलाब की पत्तियों से तैयार किए जाने वाले गुलकंद को कई लोगों के द्वारा नियमित रूप से खाने में इस्तेमाल किया जाता है। गर्मियों में इसके सेवन से लू से राहत मिलती है। इसकेअलावा यह हाथों-पैरों में होने वाली जलन को खत्म करता है। आयुर्वेद में इसका प्रयोग दवाइयां तैयार करने के लिए किया जाता है। इसके सेवन से शरीर ठंडा रहता है और गर्मी के कारण होने वाली परेशानियों से बचा जा सकता है। आइए जानते हैं कि गुलकंद के सेवन करने से किन-किन से रोगों का खतरा काफी हद तक कम हो सकता है-

आंखों के अच्छे स्वास्थ्य के लिए गुलकंद हमारे लिए काफी लाभदायक असर दिखा सकता है। वैज्ञानिक अध्ययन में भी इस बात की पुष्टि हुई है कि गुलकंद का सेवन करने से आंखों की रोशनी को बढ़ाने में मदद मिलती है। यह हमें अन्य नेत्र रोगों से भी बचाए रखने के लिए मदद करता है। दूध में मौजूद विटामिन-ए की मात्रा के कारण दूध के साथ इसका सेवन करने से प्रभावी रूप में इसका फायदा मिलता है।
गर्भवती महिलाएं के लिए इसका सेवन बहुत फायदेमंद है। प्रेगनेंसी में अगर कब्ज की शिकायत हो तो इसे खाने से बहुत जल्दी छुटकारा मिलता है।
गुलकंद का नियमित सेवन दिमाग के लिए भी बेहद लाभकारी है। बस एक चम्मच गुलकंद सुबह और शाम के वक्त खाने से न केवल आपके दिमाग को तरावट मिलेगी, दिमाग शांत भी रहेगा और गुस्सा भी नहीं आएगा।
अल्सर की समस्या का घरेलू उपचार भी किया जा सकता है और इसे ठीक करने में ज्यादा समय भी नहीं लगता है। अल्सर की समस्या आमतौर पर पेट के ठीक तरीके से साफ न होने की वजह से पैदा हो जाती है। गुलकंद में विटामिन-बी ग्रुप के लगभग ज्यादातर विटामिंस पाए जाते हैं। अल्सर की समस्या को ठीक करने के लिए विटामिन-बी ग्रुप वैज्ञानिक रूप से भी कारगर माना गया है। इसलिए घरेलू उपचार के रूप में गुलकंद का सेवन मुंह के छालों की समस्या को ठीक कर सकता है।
मेमोरी को बूस्ट करने के लिए कई प्रकार के खाद्य पदार्थों को खाने की सलाह दी जाती है जबकि दूध और गुलकंद का मिश्रण भी आपको काफी फायदा पहुंचा सकता है। गुलकंद में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट की मात्रा याददाश्त बढ़ाने के लिए सकारात्मक रूप से अपना प्रभाव दिखाती है। इसकी तासीर ठंडी होने के कारण यह आपके दिमाग को शांत रखने में भी मदद करता है।
रोजाना गुलकंद खाने से फेस ग्लो करने लगता है क्योंकि यह ब्लड साफ करने में मदद करता है। इससे स्‍किन प्रॉब्‍लम जैसे, ब्‍लैकहेड्स, एक्‍ने और मुंहासों से भी छुटकारा मिलता है।
पेट का स्वास्थ्य ठीक नहीं है तो यह कई बीमारियों की वजह बन सकता है। कब्ज की समस्या भी पेट से जुड़ी हुई है जो पाचन क्रिया के ठीक तरीके से ना होने के कारण लोगों को परेशान करती है। कब्ज को ठीक करने के लिए मैग्नीशियम पोषक तत्व की भी जरूरत होती है जो गुलकंद में पाया जाता है। कब्ज की समस्या से बचे रहने के लिए दूध के साथ आप भी गुलकंद का सेवन कर सकते हैं।
स्ट्रेस की समस्या हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी नुकसान पहुंचाती है और हम कई प्रकार की संक्रामक बीमारियों की चपेट में भी आसानी से आ जाते हैं। हालांकि, इस समस्या से बचे रहने के लिए गुलकंद में एंटीऑक्सीडेंट का विशेष प्रभाव लाभदायक असर दिखा सकता है।
शरीर में गर्मी पड़ने पर कई बार मुंह में छाले होने लगते हैं। इस से राहत पाने के लिए सुबह-शाम 1-1 चम्मच गुलकंद खाएं। इसके अलावा यह मसूड़ों की सूजन से भी राहत दिलाता है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया Dastak Times के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...

Related Articles

Back to top button