National News - राष्ट्रीयState News- राज्य

कन्या भ्रूण हत्या घोटाला: कर्नाटक सरकार गर्भपात रोकने के लिए आपात बैठक बुलाएगी

बेंगलुरु : राज्य को झकझोर देने वाले कन्या भ्रूण हत्या कांड के बाद कर्नाटक सरकार स्थिति पर चर्चा करने और कार्रवाई शुरू करने के लिए बुधवार को एक आपात बैठक बुला रही है। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग विधान सौध में बैठक कर रहा है। इसकी अध्यक्षता स्वास्थ्य मंत्री दिनेश गुंडू राव करेंगे। उन्होंने अधिकारियों को राज्य में सामने आए कन्या भ्रूण हत्या के मामलों पर चर्चा करने और निवारक उपाय शुरू करने के लिए आवश्यक जानकारी के साथ उपस्थित होने का निर्देश दिया है। बैठक में स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख सचिव, आयुक्त, परियोजना निदेशक और वरिष्ठ अधिकारी शामिल होंगे।

हाल ही में बेंगलुरु में सामने आए भ्रूणहत्या घोटाले की जांच में चौंकाने वाला खुलासा हुआ है कि आरोपी अब तक तीन हजार कन्या भ्रूणों का गर्भपात करा चुका है। बेंगलुरु के पुलिस कमिश्नर बी. दयानंद ने मंगलवार को पत्रकारों को बताया कि जांच से पता चला है कि आरोपी ने अब तक तीन हजार गर्भपात कराए हैं जिनमें 242 तो पिछले तीन महीने में ही कराए गए हैं। आरोपियों ने पैसा कमाने के लिए प्रति वर्ष एक हजार गर्भपात का लक्ष्य रखा था। वे प्रति गर्भापात 20 हजार से 25 हजार रुपये के बीच शुल्क लेते थे। यह घोटाला तब सामने आया जब 15 अक्टूबर को बयप्पनहल्ली पुलिस ने संदिग्ध रूप से घूम रहे एक वाहन को रोकने की कोशिश की। वाहन का चालक नहीं रुका तो पुलिस ने पीछा करके उसे पकड़ा।

पूछताछ के दौरान आरोपी ने गर्भपात रैकेट के बारे में खुलासा किया। पुलिस ने इस घृणित गतिविधि में शामिल होने के आरोप में अब तक दो डॉक्टरों और तीन लैब तकनीशियनों सहित नौ लोगों को गिरफ्तार किया है। जांच से यह भी पता चला कि गर्भपात मांड्या जिले में एक गुड़ उत्पादन इकाई में किया गया था, जहां आरोपियों ने एक प्रयोगशाला और संबंधित सुविधाएं स्थापित की थीं।

Related Articles

Back to top button