Health News - स्वास्थ्यLifestyle News - जीवनशैली

कैल्शियम और विटामिन डी से भरपूर दूध के जानिए फायदे और नुकसान

नई दिल्ली : गाय का दूध बच्चों से लेकर बड़ों के लिए फायदेमंद होता है। लेकिन इसे कितनी मात्रा में लेनी चाहिए इसे लेकर आज भी लोगों को अच्छी तरह नहीं पता है। इंसानों ने 11 हजार साल पहले से गाय पालना शुरू किया था। लेकिन दूध में मौजूद लैक्टोज शुगर पचाने की क्षमता इंसानों में केवल 10 हजार साल पहले विकसित हुई। यहां तक की आज दुनिया में केवल 30 प्रतिशत लोगों में ही वयस्क होने के बाद लैक्टेज नाम का एंजाइम बनता है जो दूध को अच्छी तरह पचा पाते हैं। जो लोग लैक्टोज शुगर को पचाने में सक्षम नहीं होते हैं उन्हें कई तरह की समस्या से जूझना पड़ता है।

गाय का दूध प्रोटीन और कैल्शियम का मुख्य स्त्रोत है। इसमें इसके अलावा विटामिन B-12 और आयोडीन की मात्रा काफी मिलती है।इसमें मैग्नीशियम भी होता है जो हड्डियों के बढ़ने और मांसपेशियों के काम में हेल्प करता है।

एक से तीन साल के बच्चों के लिए एक गिलास दूध काफी
ब्रिटेन की नेशनल हेल्थ सर्विस कहती है कि एक से 3 साल तक के बच्चों के हड्डियों के सही विकास के लिए 350 मिलिग्राम कैल्शियम देना चाहिए। जो एक गिलास दूध रोज पीने से मिल जाता है। इसलिए बच्चों को दूध के अलावा अन्य चीज खिलानी चाहिए ताकि हर तरह का पोषण उन्हें मिल सके। ज्यादातर घरों में देखा गया है कि बच्चों को ज्यादा दूध देने पर लोग फोकस करते हैं जो कि गलत है। इससे बच्चे का संपूर्ण विकास नहीं हो पाता है।

ज्यादा दूध पीने से हड्डियों के टूटने की संभावना बढ़ जाती है
अगर व्यस्कों की बात करें तो कई रिसर्च में सामने आया है कि ज्यादा दूध पीने से हड्डियां टूटने की संभावना बढ़ जाती है। स्वीडन में हुई एक रिसर्च में यह पता चला है कि जिन महिलाओं में हड्डियां टूटने की प्रवृति ज्यादा होती है उसके पीछे उनका ज्यादा दूध का सेवन होता है।

दूध में चिकनाई ज्यादा होने से दिल की बीमारी हो सकती है
दूध में चिकनाई का लेवल ज्यादा होता है। कहा जाता है कि दूध ज्यादा लेने से दिल की बीमारियों का भी खतरा बढ़ जाता है। फिनलैंड यूनिवर्सिटी की प्रोफ़ेसर जेरिका विरतानेन की मानें तो दूध में प्रचुर मात्रा में प्रोटीन होता है। इसे लेने के बाद भूख खत्म हो जाती है। जिसकी वजह से लोग अन्य पौष्टिक आहार नहीं लेते हैं। इससे दिल की बीमारियां ज्यादा पैदा होने का खतरा बढ़ जाता है।

बच्चों को दे सिर्फ गाय का दूध
इन तमाम रिसर्च को देखते हुए दूध का अन्य विकल्प खोजा गया। बादाम मिल्क, सोया मिल्क, ओट्स मिल्क जैसे प्रोडक्ट की भरमार है। लेकिन बच्चों को इन सभी दूध से दूर रखना चाहिए। बच्चों के विकास के लिए गाय का दूध सबसे बेहतर होता है। हां व्यस्क जिसे गाय का दूध नहीं पचता है वो इस तरह के दूध का सेवन कर सकते हैं।

Unique Visitors

11,451,240
नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया Dastak Times के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...

Related Articles

Back to top button