Health News - स्वास्थ्यLifestyle News - जीवनशैली

डैंड्रफ को दूर करने के लिए जानें प्राकृतिक आयुर्वेदिक नुस्खे

नई दिल्ली : बालों में डैंड्रफ की समस्या वैसे तो आम है। लेकिन सर्दियों में ये समस्या हमारे लिए और सिरदर्दी बन जाती है। अगर आप भी इस समस्या से निपटने के लिए अब तक कई तरीके आजमा चुके हैं, और फायदा नहीं हुआ है, तो ये उपाय आपके काफी काम आएगा।

खूबसूरत बाल न सिर्फ दिखने में अच्छे लगते हैं, बल्कि हमारी सुंदरता में भी चार चांद लगाने का काम करते हैं। लेकिन कई बार बदलते मौसम की मार या फिर गलत ब्यूटी प्रोडक्ट्स के चयन से बालों में डैंड्रफ की समस्या होने लगती है। जिसका अगर समय पर इलाज न हो, तो स्कैल्प में एलर्जी होने से लेकर बाल तक झड़ जाते हैं।

हर बदलता हुआ मौसम अपने साथ ढेरों खुशियों के साथ ढेरों परेशानियां भी लेकर आता है। खासकर सर्दियों के मौसम में जब हम ज्यादा गरम पानी से नहाते हैं , तो वो हमारी स्किन के साथ हमारे स्कैल्प से भी ऑयल को चुराने का काम करती है। जिसकी वजह से स्कैल्प ड्राई होनी शुरू हो जाती है। फिर पपड़ी का रूप लेकर स्कैल्प पर जलन पैदा करने के साथ कई बार बाल झड़ने भी शुरू हो जाते हैं। जो सिर्फ और सिर्फ बालों की खूबसूरती को बिगाड़ने का ही काम करते हैं।

सिर्फ ड्राई या ऑयली स्कैल्प ही नहीं, बल्कि सेबोरहाइक और मलेसेजिया जैसे फंगल इंफेक्शन भी डैंड्रफ के लिए जिम्मेदार होते हैं। कई बार हार्मोनल परिवर्तन होने की वजह से भी स्कैल्प ड्राई होने लगती है। वहीं हेल्दी डाइट जिसमें प्रोटीन, आयरन ,फाइबर व हेल्दी फैट्स का अभाव होने की वजह से बाल कमजोर होने के साथ स्कैल्प पर पपड़ी जमनी शुरू हो जाती है। ऐसे में कुछ ऐसी नेचुरल चीजें हैं , जिससे आप आसानी से डैंड्रफ की समस्या से छुटकारा पा सकती हैं।

इंस्ट्राग्राम की एक रील में डैंड्रफ की समस्या के लिए एक कारगर उपाय बताया गया है, जिससे आपको डैंड्रफ से छुटकारा मिल ही जाएगा। इसके लिए आप 2 – 3 भीमसेनी कपूर को अच्छे से क्रश करके, फिर एक बाउल में इसे डालकर इसमें आधा नींबू का रस डालकर अच्छे से मिक्स करें। फिर इसमें एक कप के करीब गरम नारियल का तेल मिलाकर इसे हफ्ते में तीन दिन अपने बालों में 45 मिनट के लिए अप्लाई करें। फिर माइल्ड शैंपू से बालों को धो लें। इससे आपको काफी आराम मिलेगा।

असल में भीमसेनी कपूर में एंटीफंगल प्रोपर्टीज होती हैं, जो फंगस की ग्रोथ को बढ़ने से रोकने में मददगार है। साथ ही इसकी कूलिंग प्रोपर्टीज स्कैल्प को ठंडक पहुंचाकर जलन को कम करने में मददगार है। और जब हम इसे अपने बालों में अप्लाई करते हैं, तो ये हेयर फोलिकल्स को खोलने में मदद करने के साथ बालों की ग्रोथ में भी सहायक होता है। वहीं नींबू का रस अपनी एसिडिक प्रोपर्टीज के कारण स्कैल्प के पीएच लेवल को बैलेंस में रखकर फंगस की ग्रोथ को रोकने का काम करता है। तो हुआ न इजी टू मेक के साथ असरदार भी।

Related Articles

Back to top button