State News- राज्यTOP NEWSदिल्लीफीचर्ड

LOCKDOWN: दिल्ली में खुलीं प्लंबर, इलेक्ट्रीशियन व वॉटर प्यूरीफायर की दुकानें…

नई दिल्ली: देश की राजधानी दिल्ली में लगातार सामने आ रहे कोरोना वायरस संक्रमण के बीच केजरीवाल सरकार के निर्णय के बाद मंगलवार को ज्यादातर इलाकों में दुकानें तो खुली,लेकिन खरीदार नजर नहीं आए।

बता दें कि मंगलवार सुबह से ही प्लंबर, इलेक्ट्रीशियन और वॉटर प्यूरीफायर की मरम्मत करने वाली दुकानें खुली हुई हैं। इसके अलावा मार्केट में किताब-स्टेशनरी और इलेक्ट्रिक पंखे की दुकान भी खुली हैं।

वहीं, दुकान खोलने वाले एक दुकानदार का कहना है कि बिजली के प्रोडक्ट वाली दुकानों को खोलने की इजाजत मिल गई है। ऐसे में हमने दुकानें भी खोली हैं, लेकिन यहां पर दुकानदार नहीं हैं। इस दुकानदार ने अपना दर्द बयां करते हुए कहा कि मैंने एक महीने (21 मार्च) के बाद अपनी दुकान खोली। यह पंखों की बिक्री का सबसे बढ़िया समय होता है, लेकिन कुछ ही ग्राहक आ रहे हैं।

लोगों की परेशानी के चलते लिया फैसला

दिल्ली में सत्तासीन आम आदमी पार्टी सरकार लोगों की की परेशानी को देखते हुए राहत का दायरा कुछ और बढ़ाया है। सोमवार को दिल्ली के मुख्य सचिव विजय देव ने इस संबंध में आदेश जारी किए हैं।

इन लोगों को भी मिली छूट

दिल्ली सरकार के आदेश के मुताबिक, वेटनरी हॉस्पिटल, क्लीनिक, पैथ लैब, वैक्सीन और मेडिसिन की बिक्री और आपूíत से संबंधित दुकानों को खोलने की भी छूट है। यही नहीं राज्य के बाहर मेडिकल और वेटनरी से जुड़े व्यक्तियों, वैज्ञानिक, नर्स, दाई, पैरा मेडिकल स्टाफ, लैब टेक्नीशियन सहित एंबुलेंस को कहीं भी आने-जाने की छूट है।

दिव्यांगों बच्चों के होम चलाने की भी छूट

इसके साथ ही दिव्यांग, बच्चों, सीनियर सिटिजन, मानसिक रोगी आदि के लिए होम चलाने संगठनों को भी छूट दी गई है। मुख्य सचिव ने सभी विभागों व एजेंसियों को लॉकडाउन को लेकर पिछले आदेश का कड़ाई से पालन कराने के निर्देश दिए हैं।

करना होगा लॉकडाउन के नियमों का पालन

आदेश में यह भी कहा गया है कि दुकान खोलने और सामान बेचने के दौरान लॉकडाउन के नियमों का भी पूरा तरह से पालन करना होगा। शारीरिक दूरी के नियम मानने होंगे। दुकान पर सिर्फ 5 फीसद कर्मचारी ही अपनी भूमिका निभा सकेंगे। सभी लोगों को मास्क लगाना होगा। इसमें खरीदार और दुकानदार दोनों शामिल हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया Dastak Times के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...

Related Articles

Back to top button