25 मई से शुरू होगा नौतपा, जानिए इन दिनों क्या करना चाहिए क्या नहीं ?

हिंदू पचांग के अनुसार ज्येष्ठ महीने में सूर्य रोहिणी नक्षत्र में प्रवेश करता है। ज्योतिशास्त्र के अनुसार सूर्य के रोहिणी नक्षत्र में होने से गर्मी बढ़ती है। इस साल 25 मई, सोमवार को सूर्य रोहिणी नक्षत्र में प्रवेश में करेंगे और 8 जून, सोमवार तक इसी नक्षत्र में रहेंगे। सूर्य के नक्षत्र बदलते ही 25 से नौतपा की शुरुआत हो जाएगी।

कब से कब तक होगा नौतपा
ज्योतिषशास्त्र के अनुसार जब सूर्य रोहिणी नक्षत्र में होता है और वृष राशि के 10 से 20 अंश तक रहता है, तब नौतपा लगता है। इस नक्षत्र में सूर्य 15 दिन तक रहेंगे। शुरुआत के 9 दिनों को नौतपा कहा जाता है। इस बार 25 मई से 2 मई तक नौतपा रहेगा। धार्मिक परंपराओं के अनुसार इन दिनों में कुछ विशेष कार्य किए जाते हैं। आइए आज जानते हैं इन दिनों क्या करना चाहिए….

महिलाएं मेंहदी लगाती हैं
धार्मिक परंपरा है कि इन दिनों महिलाएं हाथ-पैरों में मेंहदी लगाती हैं। ऐसा इसलिए किया जाता है क्योंकि मेंहदी की तासीर ठंडी होती है। मेंहदी लगाने से गर्मी से राहत मिलती है। नौतपा में सूर्य की गर्मी बहुत अधिक बढ़ जाती है, इसलिए प्राचीन समय से ही इन दिनों में मेंहदी लगाने की परंपरा है।

जल का दान
धार्मिक मान्यताओं के अनुसार दान का बहुत अधिक महत्व होता है। दान करने से कई गुना फल की प्राप्ति होती है। धार्मिक शास्त्रों में इस बात का वर्णन है कि जल का दान करना शुभ होता है। नौतपा में गर्मी बढ़ जाती है जिस वजह से पानी की प्यास भी अधिक लगती है। इन दिनों जरुरतमंद लोगों को पानी पिलाना चाहिए। अगर आपसे कोई पानी मांगें तो उसको पानी अवश्य पिलाएं। ऐसा करने से भगवान का आशीर्वीद मिलता है।
 

ठंडक देनी वाली चीजों का सेवन करें
नौतपा में गर्मी के बढ़ जाने से शरीर में पानी की कमी का खतरा भी रहता है। इन दिनों ठंडक देनी वाली चीजों जैसे दही, नारियल पानी आदि का अधिक से अधिक सेवन करें। अगर संभव हो तो जरूरतमद लोगों को भी इन चीजों का दान करें।