ज्योतिष के अनुसार आपकी कुंडली में ग्रह लाते है सुख एवं शांति

ज्योतिष : आपकी कुंडली में ग्रह लाते है सुख एवं शांति

1) मंगल पांचवे घर मे-चैन से ना सोये तथा अपनों से धोखा खाये।

2) गुरु राहु की युति-मुंह पर आलोचना करे। बडो का अपमान करे।

3) मंगल का संबंध लग्न या लग्नेश से-पुरुषार्थी बनाए।

4) शनि का लग्न या लग्नेश से संबंध –स्वयं क्रोध मे अहंकार से सब कुछ गवाए।

5) गुरु का लग्न या लग्नेश से संबंध- स्वयं ज्ञान की पराकाष्ठा होवे।

6) गुरु अस्त/वक्री –पाचन तंत्र कमजोर एवं मोटापा।

7) सम राशि का लग्न,गुरु बलवान-पत्नी शास्त्र मे निपुण वेदो का अर्थ जानने वाली।

8) छठे भाव मे गुरु- कर्जा चढ़े।

9) विवाह लग्न मे गुरु- धनवान,3रे सन्तानवान ,5वे-कई पुत्र,10वे-धार्मिक,7,8 मे अशुभ।

10) मंगल पर गुरु की दृस्टी –समझौता वादी प्रवर्ति।

11) मंगल संग राहू-कुछ भी कर ले,मारक गुण।

12) मंगल संग बुध- छल छद्म एवं शरीर मे तेजाब बने।

13) दशमेश का अस्ट्मेश या द्वादशेश से संबंध- जन्म स्थान से दूर सफलता।

14) मंगल का दूसरे घर व द्वितीयेश पर प्रभाव –पत्नी की मृत्यु बाद दूसरा विवाह।

15) सप्तम भाव से नवां भाव मे केतू-पति धार्मिक,शारीरिक सुख कम।

16) बुध लग्नेश हो तो- प्रबंधन कार्य,लेखाकार्य एवं बुध कार्य करे।

17) सप्तम भाव मे वक्री ग्रह –दाम्पत्य जीवन मे अडचने।

18) बुध पूर्णस्त –स्मरण शक्ति मे कमी।

19) शुक्र संग चन्द्र-भावुकता ज़्यादा।

20) केंद्र स्थान खाली- गौड़ फादर नहीं।

21) चन्द्र 12वे घर मे –नींद कम रात को जागे।

22) सूर्य/बुध दूसरे भाव मे –पत्नी सुख मे कमी।

23) चन्द्र पर शनि दृस्टी-मानसिक अस्थिरता। डबल माईंड।

24) सप्तमेश नीच राशि का –विवाह मे धोखा।

25) लग्नेश छठे घर मे –सभी के प्रति आशंका एवं डर की भावना।

26) अस्ट्मेश नवमेश की युति-प्रेत बाधा।

27) छठे व दूसरे घर के स्वामी का परिवर्तन-प्रतियोगिता द्वारा धननाश।

28) सूर्य चन्द्र जिस भाव मे संग- उस भाव का नाश।

29) सूर्य संग शनि लग्न मे –विवाह देर से।

ये भी पढ़ें : – पुत्र प्राप्ति के लिए गर्भाधान काल – Dastak Times

  1. देशदुनिया की ताजातरीन सच्ची और अच्छी खबरों को जानने के लिए बनें रहें http://dastaktimes.org/ के साथ।
  2. फेसबुकपर फॉलों करने के लिए : https://www.facebook.com/dastak.times.9
  3. ट्विटरपर फॉलों करने के लिए : https://twitter.com/TimesDastak
  4. साथही देश और प्रदेश की बड़ी और चुनिंदा खबरों के ‘न्यूज़वीडियो’ आप देख सकते हैं।
  5. youtube चैनलके लिए: https://www.youtube.com/c/DastakTimes/videos