परमीशन नहीं है तो हम क्यों पुलिस के सामने कोई बात करें : प्रह्लाद मोदी

परमीशन नहीं है तो हम क्यों पुलिस के सामने कोई बात करें : प्रह्लाद मोदी

सुलतानपुर : समर्थकों के साथ यूपी पुलिस की कार्यवाही से आहत चौबीस घंटे पहले लखनऊ एयरपोर्ट के बाहर धरने पर बैठे प्रधानमंत्री मोदी के भाई प्रह्लाद मोदी ने कहा कि यदि जितेंद्र भाई या उनके समर्थकों के पास जिलाधिकारी की अनुमति का लेटर हो तो लाओ तो मैं कुछ कर सकूं।

गुरुवार को प्रह्लाद मोदी पहुंचे लखनऊ

सुलतानपुर में दो फरवरी को जेल भेजे गए अपने समर्थक जितेंद्र तिवारी के घर गुरुवार को प्रह्लाद मोदी पहुंचे। यहां पत्रकारों से वो आग बबूला हो गए। प्रह्लाद मोदी को अपने बीच पाकर जेल में निरुद्ध जितेंद्र तिवारी के परिजन रोने लगे। मोदी पत्रकारों को नसीहत देते हुए कहा कि जो तुम्हारे पास नहीं है और तुम झूठी बातें चलाते हो। ऐसी गलतफहमी और गुमराह करने की बातें छोड़ों।’ कानून-कानून का काम करता है।

मोदी पत्रकारों को नसीहत देते हुए कहा

इसके बाद मोदी पत्रकारों से ही सवाल करने लगे कि तुम्हारे पास परमीशन है। आप जो सवाल करके लोगों को गुमराह करने का काम कर रहे। परमीशन नहीं है तो हम क्यों पुलिस के सामनें कोई बात करें। फिर उन्होंने कहा, आपके पास परमीशन है तो मुझे दे दो मैं अभी पुलिस के सामने जंग खेलूंगा। मेरे में ताकत है। उन्होंने कहा कि परमीशन नहीं है और हम निकल पड़े युद्ध खेलने के लिए तो दूसरे को क्यों गुमराह करते हो। उनके समर्थकों को क्यों गुमराह करते हो। मीडिया का ये काम अच्छा नहीं है।

जितेंद्र तिवारी को गिरफ्तार किया

ज्ञातव्य हो कि तीन दिन पूर्व नगर के विकास भवन के पास से लग्जरी वाहन पर प्रधानमंत्री, गृह मंत्री और मुख्यमंत्री के साथ पीएम के भाई की फोटो लगे लग्जरी वाहन के साथ कोतवाली पुलिस ने जितेंद्र तिवारी को गिरफ्तार किया था। लग्जरी वाहन पर प्रधानमंत्री के भाई की फोटो के साथ चार फरवरी को उनके कार्यक्रम से संबंधित फ्लैक्स लगा हुआ था। जितेंद्र प्रधानमंत्री के भाई के कार्यक्रम किए जाने की लाख दलीलें पुलिस को देता रहा लेकिन उसकी एक नहीं सुनी गई। पुलिस ने जिला समाज कल्याण अधिकारी के कार्यालय से प्राप्त तहरीर के आधार पर केस भी दर्ज कर लिया है।

ये भी पढ़ें : – 

यह भी पढ़े:- वार्ता के जरिए किसानों की समस्याओं का हल निकाले सरकारः दिग्विजय सिंह

  1. देश दुनिया की ताजातरीन सच्ची और अच्छी खबरों को जानने के लिए बनें रहेंdastaktimes.org  के साथ।
  2. फेसबुक पर फॉलों करने के लिएhttps://www.facebook.com/dastak.times.9
  3. ट्विटर पर पर फॉलों करनेके लिएhttps://twitter.com/TimesDastak
  4. साथ ही देश और प्रदेश की बड़ी और चुनिंदा खबरों केन्यूज़वीडियोआप देख सकते हैं।
  5. youtube चैनल के लिएhttps://www.youtube.com/c/DastakTimes/videos